दरभंगा में श्माया माई के मंदिर में महिला को पीटा:स्त्री ने कहा- मुझ पर देवी आती हैं, मंदिर का दरवाजा खोल; पुजारी ने पिटाई की- 'सारा माता आना छुड़ा दूंगा, माई तो अपने गांव गयीं'

दरभंगा2 महीने पहले
श्यामा माई मंदिर के बाहर महिला को पीटता पुजारी।

दरभंगा के श्यामा माई मंदिर में पुजारी ने महिला का बाल खींचकर पीटा। महिला मंदिर में पूजा करने आई थी और माता के दर्शन की बात कर रही थी। उसने कहा कि उस पर देवी आती है और मंदिर का गेट उसके लिए खोलना होगा। दोनों के बीच बकझक होती है और उसमें पुजारी महिला की पिटाई शुरू कर देते हैं।

इसी में पुजारी जी को इतना गुस्सा आ गया कि उन्होंने महिला का बाल खींचकर पकड़ा और तमाचे जड़ने शुरू कर दिए। महिला की पिटाई को किसी ने अपने कैमरे में कैद कर लिया। अब यह वीडियो वायरल हो रहा है। इस मामले पर मंदिर ने तत्काल संज्ञान लेते हुए पुजारी को हटा दिया है। आसपास तमाशबीन लोग भी हैं, लेकिन वे दोनों ही को बस शांत होने को कह रहे हैं। किसी भी तरह का हस्तक्षेप वहां उपस्थित लोगों की तरफ से नहीं हुआ है।

वैसे, इस संबंध में श्यामा माई न्यास समिति के प्रबंधक चौधरी हेमचंद्र राय ने बताया कि प्रबंधन ने पुजारी तारानंद झा को काम से हटा दिया है। आगे का निर्णय समिति की बैठक में लिया जाएगा। तत्काल प्रभाव से उन्हें पूजा से हटा दिया गया है।

महिला की तरफ से अभी तक कोई शिकायत नहीं आई है। महिला की पहचान भी नहीं हुई है।

पुजारी और महिला की बातचीत

पुजारी- तुरंत ठीक क देबै हम (अभी ठीक कर दूंगा मैं)

महिला- (गुर्राकर) ठीक करबी तौं (ठीक करोगे तुम)

पुजारी- (मारते हुए) चुप, चुप, के अबै छौ देह पर, के अबै छौ देह पर... बदमासी (चुप। कौन आता है देह पर तुम्हारी...बदमाशी!)

-----लड़की चिल्लाती है...पुजारी पीटते हैं।

पुजारी- कह त हमरा हाथ मं की ऐ, जौं माता आबै छै तौ (अगर माता आती है तो बताओ कि मेरे हाथ में क्या है)

लड़की- फूल हौ...फूल हौ..(फूल है, फूल है)

पुजारी- फेर बाज, फेर बाज...(फिर बोलो, फिर बोलो)

----पुजारी अपना हाथ खोलते हैं तो दिखता है कि वह खाली है।

पुजारी- देख त, की छै। मारब हम सब टा देवता निकालि देब, झुट्‌ठौ मइया के बदनामी...(देखो तो क्या है?ऐसी पिटाई करूंगा कि सब देवी-देवता निकल जाएंगे। झूठ में मैया की बदनामी करती हो)

तेहन-तेहन भूत के त हम देखै छी। सबटा भूत-प्रेत हम निकालि देबै। केहन-केहन भूल पिशाच के त हम देखै छियै। माता गेलै अपना गाम पर... (कैसा-कैसा भूत-प्रेत सब देख लिया, हमने। मां तो गयी अपने घर पर)

खबरें और भी हैं...