बाढ़ ने दी दस्तक / सिरहुल्ली घाट पर बना चचरी पुल बहा, कुशेश्वरस्थान पूर्वी के चाैकिया गांव में 24 घंटे में 15 घर नदी में विलीन

Chachari bridge built on Sirhulli Ghat Baha, 15 houses in 24 hours in Chaikia village of Kusheshwarsthan merges in river
X
Chachari bridge built on Sirhulli Ghat Baha, 15 houses in 24 hours in Chaikia village of Kusheshwarsthan merges in river

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

दरभंगा. नदियाें के जलस्तर में लगातार हाे रही वृद्धि से जिले में बाढ़ का खतरा बढ़ता जा रहा है। मंगलवार काे जाले प्रखंड के कमताैल में अधवारा समूह की नदी पर सिरहुल्ली घाट व वाजितपुर घाट पर बने चचरी पुल बह गए। वहीं, कुशेश्वरस्थान पूर्वी प्रखंड के चाैकिया गांव में पिछले 24 घंटे के दाैरान कमला बलान नदी के कटाव से 15 घर नदी में विलीन हाे गए। साेमवार काे सिरहुल्ली घाट पर अधवारा समूह की नदी पर बना चचरी पुल पानी से एक फीट उपर था। 24 घंटे के दाैरान नदी के जलस्तर में 4 फीट की वृद्धि हाे गई। जिससे चचरी पुल पानी में बह गया। इसी कारण वाजितपुर घाट का चचरी पुल भी बह गया। जिससे टेकटार, सिरहुल्ली, बिसम्भरपुर, कुसुम्पटी, हरिहरपुर, मालपट्टी, धरमपुर, कानौर, टीलसठ, बहुआरा, कोठिया, मंगरथु, पंचमा, बघ्घा, भतौरा, तिरमुहान, सिंघिया अादि गांवाें का संपर्क भंग हाे गया है। 

सरकारी स्तर पर नाव की व्यवस्था नहीं 

कुशेश्वरस्थान पूर्वी क्षेत्र में कमला बलान व काेशी नदियाें के जलस्तर में तेजी से वृद्धि हाे रही है। सभी नदियां उफान पर है। पानी क्षेत्र के निचले इलाकों में तेजी से फैल रहा है। मंगलवार को इटहर पंचायत के चौकिया व लक्ष्मिनिया में बाढ़ आ जाने से लाेगाें के आवागमन के लिए नाव ही एक मात्र सहारा बच गया है। बावजूद, सरकारी स्तर पर नाव की व्यवस्था नहीं की गई है। ग्रामीण प्रेमचंद्र राय, शत्रुघ्न राय, राम शोभित पासवान, रंजू देवी,श्रवण कुमार राय ने बताया कि चौकिया गांव में पिछले 24 घंटे के दाैरान 10 से 15 लोगों के घर कमला बलान नदी में विलीन हो गए हैं।

जिन लाेगाें के घर नदी में विलीन हो गए हैं वे कमला बलान पश्चिमी तटबंध पर रहने काे विविश हैं। सड़काें की मरम्मत का दिया निर्देश : डीएम डाॅ. त्यागराजन एसएम ने  समाहरणालय परिसर स्थित अंबेडकर सभा भवन में आयोजित समीक्षा बैठक की। उन्होंने बारिश व बाढ़ के मद्देनजर प्रमंडल एवं ग्रामीण कार्य प्रमंडलाें के कार्यपालक अभियंताओं को दो दिनों के अंदर पथों का सर्वेक्षण कर सभी क्षतिग्रस्त पथों को तुरंत मोटरेबल बनाने का निर्देश दिया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना