चिराग पासवान ने कुशेश्वरस्थान में किया जनसंपर्क:बोले- उनके पार्टी की उम्मीदवार बदलेगी विधानसभा की सूरत, नीतीश कुमार को बताया दलित विरोधी

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुशेश्वरस्थान में क्षेत्र भ्रमण के दौरान नाव पर चिराग पासवान। - Dainik Bhaskar
कुशेश्वरस्थान में क्षेत्र भ्रमण के दौरान नाव पर चिराग पासवान।

लोकजनशक्ति पार्टी (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान अपनी पार्टी के नेताओं के साथ बुधवार को दरभंगा जिले के कुशेश्वरस्थान गए। उन्होंने अपनी पार्टी की उम्मीदवार मंजू देवी के पक्ष में जमकर चुनाव प्रचार किया। दिनभर में कई पंचायत व गांव में चिराग जनसंपर्क के तहत इलाके के लोगों से मिले। उन्होंने मंजू देवी के पक्ष में भारी से भारी मतदान करने की अपील की। चिराग पासवान ने कहा कि कुशेश्वरस्थान विधानसभा क्षेत्र से उनकी प्रत्याशी अंजू देवी जीतने पर इलाके की किस्मत बदलेगी। चिराग ने नीतीश पर निशाना साधते हुए कहा- युवा एवं दलित विरोधी नीतीश सरकार को जनता उखाड़ फेंकेगी।

अपने जनसंपर्क अभियान के तहत चिराग इस विधानसभा क्षेत्र के विसरिया प्रखंड के मोहिम चातर, मदहर पधारी, सोनपुर, ठीका हाटी और उचटी सहित दर्जन भर गांवो के लोगों से मिले। इस दौरान उन्होंने आम जनता से हेलिकॉप्टर छाप पर बटन दबाकर भारी मतों से मंजू देवी को विजय बनाने की अपील की। पूरे दिन बारिश होने के बावजूद भी चिराग पासवान रुके नहीं। वो लगातार भारी बारिश के बीच अपने अभियान में लगे रहे।

विधानसभा क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाओें का घोर अभाव
चिराग ने लोगों से कहा - "जनसंपर्क अभियान के तहत कई ऐसी जन समस्याओं को महसूस किया, जिसमें शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े संसाधनों का पूरे विधानसभा क्षेत्र में घोर अभाव है। मैं लोगों के अंदर जो आक्रोश देख रहा हूं, वह आक्रोश निश्चित रूप से कुशेश्वरस्थान की तकदीर को बदलेगी। जनता युवा एवं दलित विरोधी नीतीश सरकार को उखाड़ फेकने की काम करेगी। और इस बार 'बिहार फर्स्ट ,बिहारी फर्स्ट' के पक्ष में कुशेश्वरस्थान की जनता पूरी तरह मन बना ली है।"

लोगों को लेना पड़ता नाव का सहारा
नीतीश पर निशाना साधते हुए चिराग ने कहा- नीतीश सरकार सड़क की जाल बिछाने की बात करती है। लेकिन, साफ झलक रहा है कि कुशेश्वरस्थान विधानसभा की सड़कों की स्थिति बदतर है। आज भी कई गांव के संपर्क सड़क के माध्यम ना होने की स्थिति में यातायात के साधन के रूप में लोगों को नाव का सहारा लेना पर रहा है। सीएम नीतीश कुमार ने कुशेश्वरस्थान विधानसभा में अपने दर्जनभर मंत्री और विधायकों को उतार रखा है। कई सांसद कैंप कर रहे हैं। आखिर विकास पूरी ईमानदारी से की गई है तो फिर डर का कारण क्या है?

चिराग बोले- कुशेश्वरस्थान के लिए लोग मूलभूत सुविधाओं से वंचित
चिराग ने कहा कि कुशेश्वरस्थान और तारापुर के विधानसभा के परिणाम के साथ ही बिहार की सरकार धवस्त हो जाएगी। कुशेश्वरस्थान में एक भी स्तरीय अस्पताल नहीं है। इसके बाद भी नीतीश कुमार ढ़ीढ़ोरा पीटेंगे कि 16 वर्षों में काफी विकास हुआ है। अगर सही में विकास हुआ है तो सीएम नीतीश कुमार बताएं कि कुशेश्वरस्थान विधानसभा क्षेत्र में जनजीवन को लेकर मूलभूत सुविधाएं क्या है? कुशेश्वरस्थान में महाविद्यालय नहीं है और युवा विरोधी सरकार विकास की बात करती है।