परेशानी:बाढ़ का पानी जाने के बाद भी कीचड़ और जलजमाव से लोगों को परेशानी

दरभंगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पशुचारा के लिए भटक रहे लोग, बाढ़ पीड़ितों को नहीं मिली कोई सहायता राशि

प्रखंड के सभी 26 पंचायत बाढ़ से प्रभावित हुआ था। तत्कालीन सीओ अजीत कुमार झा ने 23 पंचायतों को पूर्ण बाढ़ प्रभावित घोषित किए जाने का अनुशंसा सरकार से किया था। प्रखंड के पश्चिमी इलाके में अधवारा समूह की नदियों ने केवटी पूर्वी इलाके में सगुना नदी की धारा के कारण प्रखंड क्षेत्र को भारी नुकसान उठाना पड़ा। बाढ़ का पानी जाने के बाद अभी भी हर 1-2 दिन बाद वर्षा हो जाने से लोगों को परेशानी हो रही है। बाढ़ के कारण सर्वाधिक परेशानी पशुपालक किसानों को झेलना पर रहा है। बाढ़ के पानी में डूबे घास सर गए हैं। जिस कारण महिला-पुरुष पशुपालकों को चार-पांच किलोमीटर दूर जाकर पशु चारा लाना पड़ता है। लगातार हुई वर्षा और बाढ़ के कारण पंचायतों में कच्चे और फूस के घर भी बड़ी संख्या में गिर गए हैं। जिसका आंकलन किया जा रहा है। बाढ़ राहत के नाम पर सरकारी सहायता स्वरूप अब तक बाढ़ पीड़ितों को कुछ नहीं मिला है। पिंडारूच पंचायत की बलुआहा स्थित स्टेडियम में अभी भी पानी भरा है।

खबरें और भी हैं...