पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संकट में बेजुबान:पशुओं को आधा पेट खिला रहे किसान , संकट में बेजुबान

दरभंगा3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रखंड के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र सिरनियां पश्चिमी तटबंध से सटे घरारी गांव इन दिनों बाढ़ की पानी की चपेट में घिरा हुआ है। करेह एवं बागमती नदी का जलस्तर बढ़ने से गांव के लोगों की मुश्किलों दिनों दिन बढ़ती जा रही है। वहीं अकराहा, पूर्वी विलासपुर, पश्चिमी विलासपुर, सरायहमीद,नयाटोला के आसपास के इलाके को अभी भी बाढ़ का पानी पूरी तरह से घेर रखा है। लेकिन बाढ़ में सबसे ज्यादा नुकसान घरारी गांव में हो रही है। गांव में करीब 800 घरों के लोग बाढ़ के पानी से घिरे हुए हैं।

जिसके लिए भोजन की व्यवस्था एक समुदाय रसोई से हो रहा है। लेकिन मवेशियों के लिए प्रशासनिक स्तर से कोई व्यवस्था नहीं की गई है। जिस कारण बाढ़ पीड़ित पशुपालक किसान दर-दर भटक जान जोखिम में डालकर बाढ़ के पानी में मवेशियों के लिए चारा की व्यवस्था करते हैं। गांव के करीब 100 से 200 व्यक्ति प्रतिदिन नाव पर सवार होकर तटबंध के उस पार सुबह से ही पशु चारा के लिए भटकते रहते हैं। मवेशियों के लिए 5 से 10 किलोमीटर तक पानी में तैर कर व जंगलों से घास लाकर मवेशियों को खिलाते हैं। प्रखंड के किसी भी अधिकारी को विस्थापित परिवारों के मवेशियों की कोई चिंता नहीं है।

खबरें और भी हैं...