आवागमन बाधित / बाढ़ग्रस्त इलाकों में बढ़ी परेशानी चारा व शौचालय की समस्या हुई

X

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

दरभंगा. बिहार राज्य किसान काउंसिल (एआईकेएस) के राज्य अध्यक्ष ललन चौधरी एवं राज्य संयुक्त सचिव सह दरभंगा जिला किसान काउंसिल सचिव श्याम भारती ने संयुक्त बयान जारी कर कहा कि कोसी एवं कमला बलान नदी के जलस्तर में लगातार वृद्धि के कारण कुशेश्वर पूर्वी के दर्जनभर पंचायत तथा घनश्यामपुर के चार पंचायत बाढ़ के पानी से घिर गया है। कई प्रखंडों में बाढ़ के पानी मंडरा रहा है। बाढ़ के पानी से घिरे रहने के कारण ग्रामीणों का आवागमन बाधित हो गया है।

नदियों के बढ़ते जलस्तर और पानी की तेज धारा के कारण गंभीर समस्या उत्पन्न हो गई है। खेत डूबने के कारण गरमा  धान बर्बाद हो गया है साथ ही साथ पशु का चारा, पानी, शौचालय, राशन की समस्या उत्पन्न हो गई है। पिछले वर्ष बाढ़ की विभीषिका के कारण बड़ी संख्या में घर गिर गए थे। क्षतिग्रस्त हुए थे। उसका अनुदान भी नहीं मिला। बड़ी संख्या में बाढ़ पीड़ितों को राहत भी नहीं मिला। गत वर्ष कई जगह तटबंध टूटने से भारी तबाही हुई थी मगर सरकार तथा प्रशासन टूटे तटबंध की मरम्मत नहीं कराया।

कमला बलान का निर्माण भी अधूरा है। ग्रामीण सड़कें तथा पुल-पुलिया जो पिछले बाढ़ के दौरान क्षतिग्रस्त हो गया था। वह भी मरम्मत नहीं कराया गया। सरकार ने लंबे समय से पश्चिमी कोसी नहर परियोजना की योजना की स्वीकृति की मांगों पर मंजूरी दी है। पूर्व में मंजूरी देने से कई प्रखंड लाभान्वित होते मगर किसानों के महत्वाकांक्षी योजना को नजरअंदाज किया गया। अब जब चुनाव की तैयारी शुरू हुई है तो सरकार ने किसानों के लिए महत्वाकांक्षी योजना की स्वीकृति दी है यह पूरा पूरी चुनावी घोषणाएं है। अविलंब राहत एवं समुचित व्यवस्था नहीं किया जाता है तो  किसान संगठन की ओर से व्यापक आंदोलन शुरू करने की घोषणा किया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना