पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

चारों नवरात्रा में होती है विशेष पूजा:हयहट्‌ट देवी : माता की प्रतिमा की पूजा हावीडीह में हाेती है अाैर नवादा में है सिंहासन, दोनों जगह उमड़ती है भीड़

दरभंगा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शारदीय नवरात्रा का यहां अलग है महत्व, दूर-दूर से आते श्रद्धालु

बेनीपुर प्रखंड के नवादा गांव स्थित दुर्गा मंदिर में हयहट्ट देवी के सिंहासन की पूजा होती है। यहां साल की चारों नवरात्रा पर मां दुर्गा की विशेष पूजा होती है। लेकिन शारदीय नवरात्रा का यहां विशेष महत्व है। सिंहासन की पूजा के संबंध में अलग अलग मंतव्य है। गांव के ही अवकाश प्राप्त प्रो. पृथ्वी चन्द्र झा, महेंदु झा व डाॅ. चन्द्रमणि झा का कहना है कि नवादा दुर्गा स्थान 52 सिद्धपीठों में से एक है। इस पीठ का वर्णन देवी भागवत पुराण व मत्स्य पुराण में भी है। इसके अनुसार सती का वाम स्कन्ध इसी जगह पर गिरा है। लेकिन इस संबंध में अधिकांश लोगों का कहना है कि सैकड़ों वर्ष पहले राजा हयहट्ट ने मां जगदम्बा की मूर्ति स्थापित की थी। जिसे बहेड़ी प्रखण्ड के हावीडीह गांव के एक साधक प्रतिदिन कमला नदी पार कर मां भगवती की पूजा-अर्चना करने नवादा जाते थे।

एक दिन साधक बीमार पर गए फिर भी उन्होंने नवादा आकर भगवती की पूजा अर्चना की। पूजा के बाद साधक ने भगवती से याचना की कि बीमार होने के कारण अब वे पूजा-अर्चना करने प्रति दिन नहीं आ पाएंगे। इसलिए हे माता आप ही इसका कोई उपाय कीजिए। यह कह कर साधक मंदिर के मुख्यद्वार के समीप सो गए। भगवती ने साधक को सुप्तावस्था में स्वप्न दिया कि तुम मेरी प्रतिमा को यहां से साथ लेकर चलो। इसके बाद साधक ने भगवती की प्रतिमा लेकर अपने गांव आ गए। गांव में प्रतिमा स्थापित की गई।
देवी ने दिया स्वप्न : मेरे सिंहासन की ही पूजा करो, पूरी होगी मनोकामना : नवादा गांव के ग्रामीणों को जब पता चला कि मां भगवती की प्रतिमा को मंदिर से हावीडीह गांव के एक साधक अपने गांव लेकर चले गए तो आक्रोशित होकर लोगों ने हावीडीह गांव से प्रतिमा को वापस लाने का फैसला कर लिया। लेकिन मां भगवती ने मंदिर के पुजारी को स्वप्न दिया कि लोग हमारे सिंहासन की ही पूजा करें । उसी में ही गांव का कल्याण होगा और मनोकामना पूर्ण होगी। इसके बाद ग्रामीणों ने उसी दिन से मां भगवती के सिंहासन की पूजा अर्चना करने लगे जो अनवरत जारी है। मंदिर के पुजारी अमरनाथ ठाकुर का कहा कि जो लोग सच्चे मन से मां भगवती की पूजा-अर्चना करते हैं, उनको मनोवांछित फल मिलता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें