पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनुरोध:मेडिसिन विभागाध्यक्ष ने व्यवस्था पर उठाए सवाल

दरभंगाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पद से मुक्त करने के लिए प्राचार्य से किया अनुरोध

डीएमसीए के मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. यूसी झा ने कोरोना से निपटने के लिए वर्तमान व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए विभागाध्यक्ष पद से हटाने के लिए प्रिंसिपल डॉ केएन मिश्र को पत्र लिखा है। प्रिंसिपल को लिखे पत्र में उन्होंने कहा है कि मेडिसिन विभाग में कोरोना को लेकर आपातकाल जैसी स्थिति है। सैकड़ों मरीज भर्ती हैं। मैं व पूरी टीम अपनी कार्यक्षमता के अनुरूप काम में लगा हूं। बावजूद मेरी कार्यक्षमता को लेकर असंतोष जाहिर किया जाता है। ऐसी परिस्थिति में विभागाध्यक्ष का काम एवं कोविड वार्ड का पूरा देखरेख सीमित संसाधनों के तहत पूरा नहीं किया जा सकता है।

इस महामारी एवं आपातकाल में ऑक्सीजन का सप्लाई एवं मैनपावर की उपलब्धता कराना अस्पताल अधीक्षक एवं प्राचार्य का काम है। परंतु ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं होने पर विभागाध्यक्ष को ही दोषी ठहराया जाता है। ऑक्सीजन की सप्लाई का आदेश अधीक्षक देते हैं एवं संवेदक उसका आपूर्ति करता है। बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए उस अनुपात में ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं होने के लिए अधीक्षक एवं संवेदक ही बता सकते हैं। इस संबंध में पूछे जाने पर प्रिंसिपल डॉ. मिश्र ने कहा कि विभागाध्यक्ष का किसी तरह का पत्र उनके पास नहीं आया है।

पांच मई को मेडिसिन विभाग में ऑक्सीजन की हो गई थी कमी
6 मई की रात में ऑक्सीजन की भारी कमी हो गई। और जब मुझे लगा कि ऑक्सीजन के अभाव में मेडिसिन विभाग के बहुत सारे मरीज दम तोड़ सकते हैं तो ऐसी स्थिति में मैंने अधीक्षक व प्राचार्य को त्राहिमाम संदेश भेजा फिर भी ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं होने पर डीडीसी को दूरभाष पर उसकी सूचना दी। तत्काल मेडिसिन विभाग में भेजकर इस समस्या का समाधान किया जाए। लेकिन ऐसा नहीं किया जा सका।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...