पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अपील:सभी बंद एपीएचसी को टीकाकरण अभियान शुरू हो

दरभंगाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाकपा-माले ने मुख्यमंत्री व अन्य मंत्रियों को भेजा सुझाव, कोरोना की जांच में तेजी लाने की मांग की

भाकपा-माले जिला कमेटी की ओर से शुक्रवार को कई सुझाव डीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री, जिला प्रभारी मंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, आयुक्त दरभंगा प्रमण्डल को ईमेल के माध्यम से भेजा गया है। सुझाव में कहा गया है कि भीड़ भाड़ नहीं लगाने और सबको कोरोना टीका लेने तथा कोरोना लक्षण वाले को तुरंत अस्पताल पीएचसी में जांच कराने के लिए व्यापक प्रचार अभियान चलाने, डीएमसीएच में ऑक्सीजन युक्त 500 बेड तथा अनुमंडल व प्रखंड स्तरीय अस्पताल में 100 बेड का ऑक्सीजन युक्त बेड बनाने, ग्रामीण इलाकों के पीएचसी, पंचायत में बंद पड़े स्वास्थ्य उपकेंद्र या स्कूल में अस्थायी केंद्र बनाकर कोविड टीकाकरण अभियान और जांच अभियान में तेजी लाने, शहर के खाजासराय (वार्ड 48), बापू चौक (वार्ड 4) में कोरोना मरीजों के इलाज कराने की मांग की। वहीं बहादुरपुर के बीयूनी अंदामा, फेकला, सिनुआर गोपाल, गनौली, हनुमाननगर के गोदाईपट्टी, पंचोभ, सदर प्रखंड के सोनकी, मब्बी, केवटी के कोयलस्थान, हायाघाट के सुरहाचट्टी, जाले के अहियारी, सिंहवाड़ा के बिरदीपुर सहित जिले में बंद सभी स्वास्थ्य उप केंद्र को चालू कर कोरोना इलाज शुरू करने की मांग की। ऑक्सीजन प्लांट अनुमंडल स्तर पर व्यवस्था करने, अस्पताल और प्रशासन से बात करने या शिकायत करने के लिए पीड़ित परिजनों के लिए मोबाइल नंबर जारी करने, इक्छुक माले कार्यकर्ताओं को डीएमसीएच में कोविड हेल्प सेंटर लगाने की अनुमति व जागरूकता फैलाने के कार्य के लिए पास जारी जारी करने की सुझाव दिया गया है। उन्होंने जिला प्रशासन के खिलाफ चिंता जाहिर करते हुए कहा कि आज माले कार्यकर्ता डीएमसीएच में कोविड हेल्प सेंटर लगाने को तैयार है। सेवा भाव देने को तैयार है। जिसकी सूचना जिला प्रशासन को भी दी गई है लेकिन अभी तक जिला प्रशासन के तरफ से कोई पहल नहीं करना दुःखद है। जिला प्रशासन को इस ओर अग्रसर होना चाहिए। भाकपा-माले जल्द ही स्वास्थ्य व्यवस्था की चरमराती व्यवस्था के खिलाफ एक दिवसीय धरना का आयोजन किया जाएगा।

प्रशासन का जागरूकता अभियान अभी भी सुदूर ग्रामीण इलाके में नहीं चल पा रहा है
इस माध्यम से भाकपा-माले जिला सचिव बैद्यनाथ यादव ने कहा कि कोविड अब गांव-गांव में फैल रहा है। लेकिन जिला प्रशासन का प्रचार अभियान अभी भी सुदूर इलाके में नहीं चल पाया है। माले कार्यकर्ता अपने स्तर से पंचायतों में अभियान चलाकर कोविड टीका लेने, जांच कराने को लेकर प्रेरित किया जा रहा है। लेकिन सरकार को गांव-गांव प्रचार अभियान को और तेज करना होगा। आज जरूरत है कि पंचायत में बने स्वास्थ्य केंद्र पर तुरंत डॉक्टर व नर्स की बहाली कर गांव-गांव में टीकाकरण व जांच अभियान को तेज करना चाहिए। साथ ही डीएमसीएच में 500 बेड का ऑक्सीजन रहित बेड की व्यवस्था करनी चाहिए तथा 100-100 बेड प्रखंड व अनुमंडल स्तरीय स्वास्थ्य केंद्र में ऑक्सीजन रहित बेड की व्यवस्था सरकार को करना चाहिए।

खबरें और भी हैं...