अव्‍यवस्‍था का आलम:डीएमसीएच के रेडियोलॉजी में अल्ट्रासाउंड के लिए सुबह 4 बजे से ही लगती है लाइन

दरभंगाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीएमसीएच के रेडियोलॉजी विभाग में अल्ट्रासाउंड कराने के लिए इंतजार में बैठे लोग। - Dainik Bhaskar
डीएमसीएच के रेडियोलॉजी विभाग में अल्ट्रासाउंड कराने के लिए इंतजार में बैठे लोग।

डीएमसीएच के रेडियोलॉजी विभाग में अल्ट्रासाउंड कराने के लिए मरीजों को बड़ी मशक्कत करनी पड़ती है। अहले सुबह 4 बजे से अल्ट्रासाउंड के लिए लाइन में लग जानी पड़ती है और जब सेंट्रल ओपीडी के सुबह 8 बजे खुलने का समय होता है, तब तक अल्ट्रासाउंड के लिए पर्ची लेना बंद कर दिया जाता है। हालात यह है कि पूरे अस्पताल में मात्र रेडियोलोजी विभाग में ही अल्ट्रासाउंड चालू होने से मरीजों को परेशानी हो रही है।

जबकि गायनिक विभाग और शिशु विभाग में दो अल्ट्रासाउंड मशीन पड़ी है। पूर्व अधीक्षक डॉ. एसएन सिन्हा के कार्यकाल के समय गायनिक विभाग और शिशु विभाग में दो अल्ट्रासाउंड जांच मशीन लगाई गई थी, जो पड़ी हुई है। बताया जा रहा है कि गायनिक व शिशु विभाग में अल्ट्रासाउंड मशीन चालू करने के लिए लाइसेंस की जरूरत है, जो अभी तक नहीं मिली है। जिसके कारण जांच नहीं हो पा रही है। डीएमसीएच में प्रतिदिन इलाज के लिए करीब 1500 मरीज आते है।, रेडियोलॉजी विभाग में 4 अल्ट्रासाउंड मशीन हैं, जिसमें से 3 मशीन से ही काम होती है। एक मशीन खराब है।

24 घंटे अल्ट्रासाउंड की सुविधा नहीं
कबीरचक की असरती खातून ने बताया कि अल्ट्रासाउंड जांच के लिए डॉक्टर ने एक दिन पहले लिखा था। 24 घंटे जांच की सुविधा नहीं होने के कारण दूसरे दिन ही हो सका। भीगो की रूबी खातून ने बताया कि गायनिक विभाग में अल्ट्रासाउंड जांच की व्यवस्था नहीं है। जिसके कारण रेडियोलॉजी विभाग में जांच के लिए आए हैं।

मरीज खरीदकर लाते हैं पानी अल्ट्रासाउंड जांच के लिए आने वाले लोगों के लिए पीने के पानी की व्यवस्था तक नहीं है। जबकि इस जांच से पहले पानी पीना होता है। मरीज पानी बाजार से खरीदकर लाते हैं । शौचालय की स्थिति काफी जर्जर है।

एक माह में गायनिक विभाग में अल्ट्रासाउंड जांच चालू हो जाएगी। रेडियोलॉजी विभाग में शौचालय व पानी की व्यवस्था के लिए रोगी कल्याण समिति में मुद्दा को रखा जाएगा। -डॉ. हरिशंकर मिश्रा,
अधीक्षक, डीएमसीएच

खबरें और भी हैं...