प्राथमिक विद्यालय पर टीका के लिए चप्पल की लाइन:कोरोना टीका लेने के लिए केंद्रों पर अहले सुबह से चप्पलों की लगाई जाती है लाइन

दरभंगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जद्दोजहद : केवटी में सुबह 4 बजे से ही टीका के लिए लोग कर रहे मशक्कत, फिर भी निराशाज

केवटी प्रखंड के प्राथमिक विद्यालय रनवे परिसर में शनिवार की सुबह 4 बजे से ही टीकाकरण स्थलों के बाहर महिला-पुरुषों की लाइन लगने लगी। रसोई गैस की किल्लत के जमाने में जैसे लोग सिलेंडर के लिए लाइन लगते थे, वैसे ही टीका लेने के लिए भी लाइन लगने रहे है। लोग अब टीका के महत्व को समझने लगे हैं। शनिवार को प्राथमिक विद्यालय रनवे परिसर में भी कुछ इसी तरह का नजारा देखने को मिला। सैकड़ों लोग लाइन में खड़े थे, तो कुछ लोग अपनी-अपनी जुटा-चप्पल लाइन में रखकर विद्यालय भवन में और पेड़ों की छांव में सुस्ता रहे थे।

यह तस्वीर शनिवार सुबह 8.30 बजे की है। यहां टीकाकरण 10 बजे के बाद ही शुरू हुआ। असल में प्रखंड मुख्यालय होने के कारण प्रखंड के सभी क्षेत्र से लोग यहां पहुंचते हैं। इसके अलावे बगल के पड़ोसी प्रखंड मधुबनी जिला के बिस्फी और रहिका के भी लोग यहां आकर धड़ल्ले टीका लगवाते हैं। इधर, जिले में 27,3107 लोगों को टीका करने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें से अभी तक कुल 10,37,566 डोज टीका दिया जा चुका है।

महिलाओं ने कहा- लाइन में घंटों लगने के बाद भी दो दिनों से लौट रही

टीकाकरण स्थल पर प्रखंड क्षेत्र के बाहर से आए एक दर्जन से अधिक ललिता देवी, शीला देवी, भक्ति देवी, सविता कुमारी, दुखनी देवी, सीता देवी आदि ने बताया कि बिस्फी की ओर जाने जहां-तहां बाढ़ और वर्षा का पानी भरा है। यहां आने में सहूलियत होता है। इन महिलाओं ने बताया कि पिछले 2 दिन से लौट रही हूं और आज भी टीका नहीं लग सका। आने जाने में खर्चा और परेशानी भी होती है। शनिवार प्रखंड में कुल 2000 कोविशील्ड और 800 कोवैक्सीन की डोज दी गई थी। जिसके लिए कुल 14 जगहों रनवे, समैला, पचाढ़ी, केवटी, लदारी, रैयाम, धनुषी, धोबिगामा, ननौरा, लाधा, हनुमान नगर, बाजितपुर, बग्घा, गोकुल में टीकाकरण स्थल निर्धारित किया गया था। केवटी प्रखंड में शनिवार को टीकाकरण स्थलों 900 लोगों को बिना टिकट लिए वापस लौटना पड़ा।

केस-1 : महिला पुलिस व चौकीदार थे तैनात
प्राथमिक विद्यालय रनवे में 2 में महिला पुलिस और 3 चौकीदार को ड्यूटी पर लगाया गया था। यहां करीब 2:30 बजे टीका का डोज समाप्त हो गया। यहां महिला-पुरुषों के लिए अलग-अलग लाइन लगाई गई थी। बड़ी संख्या में लोगों को निराश लौटना पड़ा।
केस-2 : पंचायत भवन 2:45 बजे टीका खत्म

पंचायत भवन केवटी परिसर में महिला-पुरुषों की लाइन लगी हुई थी। करीब 2:45 बजे टीका समाप्त हो गया। यहां करीब एक सौ महिला-पुरुषों को बिना टीका लगवाए लौटना पड़ा। बाढ़ समैला की पवन देवी, दहीपुरा की सोना देवी, केवटी की फातमा खातून ने बताया कि तीन दिन से बिना कोरोना वैक्सीन के लिए लौट रहे है।

केवटी में कुल 54 हजार लोगों को टीका लगाया जा चुका : डॉ. निर्मल
वैक्सीनेशन के मामले में पूछे जाने पर एमओआईसी डॉ. निर्मल कुमार लाल ने बताया कि वैक्सीन के लिए लगातार प्रयास करना पड़ता है। कम वैक्सीन रहने से लोगों को लौटना पड़ रहा है। अब तक प्रखंड में करीब 54,000 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि टीका लगाए लोगों को आधा घंटा रोकने की सलाह दी जाती है, ताकि टीका का असर देखा जा सके। अब तक जो लोग भी बचे हैं, उन्हें भी टीका दिलवाया जाएगा। थोड़ा विलंब हो सकत है।

खबरें और भी हैं...