कार्यक्रम:शिशु के जन्म के एक घंटे के अंदर स्तनपान कराने से कुपोषण से किया जा सकता बचाव

दरभंगा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुप्पी में स्तनपान काे बढ़ावा देने के लिए शपथ लेती सेविका एवं आशा। - Dainik Bhaskar
सुप्पी में स्तनपान काे बढ़ावा देने के लिए शपथ लेती सेविका एवं आशा।
  • विश्व स्तनपान सप्ताह दिवस पर मेहंदी व जागरुकता रैली के माध्यम से महिलाओं को किया जागरूक

जिले में शनिवार को विश्व स्तनपान सप्ताह कार्यक्रम संपन्न हो गया। इस दौरान जिले के विभिन्न आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका एवं आशा कार्यकर्ताओं द्वारा स्तनपान को बढ़ाना देने को लेकर मेहंदी व जागरुकता रैली निकालकर महिलाओं को जागरूक किया गया। इसी कड़ी में नानपुर प्रखंड के आशा कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर महिलाओं को स्तनपान से होने वाले फायदों के बारे में जानकारी दी गयी। इसी कड़ी में सुप्पी प्रखंड क्षेत्र के रामनगरा गांव स्थित आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 20 पर गोद भराई एवं स्तनपान को बढ़ावा देने को लेकर शपथ ग्रहण समरोह का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता सीडीपीओ रंजना कुमारी ने की। इस दौरान पिरामल स्वास्थ्य के डीटीएम रवि रंजन कुमार के द्वारा गर्भवती महिलाओं का गोद भराई का रस्म अदा किया। वहीं महिला प्रवेशिका उषा कुमारी व पिरामल स्वास्थ्य राजीव कुमार सिंह के द्वारा उपस्थित सारी धात्री माताओं को ऊपरी आहार के साथ-साथ स्तनपान की अनिवार्यता के बारे में जानकारी दी।

साथ ही गर्भवती माताओं को आयरन एवं कैल्शियम की गोली खाने के ऊपर संस्थागत प्रसव के 1 घंटे के अंदर स्तनपान कराने एवं पौष्टिक आहार लेने को लेकर विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। सीडीपीओ रंजना कुमारी ने बताया कि जन्म के घंटे के अंदर स्तनपान शुरु करना है। जबकि 6 महीना तक शिशु को सिर्फ मां का दूध देना है। साथ ही 6 महीना पूर्ण होने के बाद ऊपरी आहार के साथ-साथ दूध पिलाते रहना आवश्यक है। जिससे शिशु कुपोषण से बच सकें। उपस्थित लोगों काे स्तनपान कराने को लेकर शपथ दिलाया गया। मौके पर सीडीपीओ रंजना कुमारी, प्रियंका कुमारी, आंगनवाड़ी सेविका सुशीला कुमारी, प्रमिला कुमारी, सरिता कुमारी, सोनम कुमारी, निधि कुमारी, रानी कुमारी, सुशीला देवी आदि मौजूद थी।

जागरूकता रैली के माध्यम से स्नतपान कराने को लेकर किया जागरूक
विश्व स्तनपान सप्ताह के तहत प्रखंड मुख्यालय स्थित बाल विकास परियोजना कार्यालय से शनिवार को स्तनपान को बढ़ावा देने को लेकर जागरूकता रैली निकाली गई। यह रैली कार्यालय से निकलकर प्रखंड मुख्यालय के विभिन्न चौक-चौराहों व मोहल्ला में निकाला गया। जागरूकता रैली के माध्यम से महिलाओं को स्तनपान कराने को लेकर जागरूक किया गया। इसके बाद कार्यालय परिसर में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में महिलाओं ने बच्चों के जन्म के एक घंटे के अंदर स्तनपान कराने, छह माह तक केवल मां का दूध पिलाने एवं उसके उपरांत मां के दूध के साथ अलग से ऊपरी आहार देने का शपथ लिया गया।​​​​​​​

बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है

सीडीपीओ पुष्पा कुमारी ने बताया कि स्तनपान कराने से बच्चों की बौद्धिक क्षमता बढ़ती है। इसके साथ ही मां और शिशु के बीच भावनात्मक रिश्ता मजबूत होता है। इस दौरान पीरामल स्वास्थ्य के बीटीओ मनोज कुमार ने बताया कि मां का दूध सुपाच्य और पौष्टिकता से भरपूर होता है। इससे बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है। उन्होंने बताया कि स्तनपान सिर्फ शिशु के लिए ही नहीं बल्कि महिलाओं के लिए भी काफी फायदेमंद है। मौके पर एलएस कृष्णा कुमारी, रेखा कुमारी, बीएम केयर प्रभात कुमार, बीसी ऋतिक राज, बीपीए सन्नजन कुमार, प्रमोद कुमार आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...