उठा मुद्दा:सांसद ने लोकसभा में उठाया डीएपी व यूरिया खाद की कमी का उठा मुद्दा

दरभंगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लोकसभा में शून्य काल के दौरान सांसद गोपालजी ठाकुर ने पूरे मिथिला क्षेत्र में डीएपी व यूरिया खाद की पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री मनसुख मांडविया से आग्रह किया। इस दौरान सांसद डॉ. गोपालजी ठाकुर ने कहा कि दरभंगा सहित सम्पूर्ण मिथिला पूर्णतः बाढ़ प्रभावित क्षेत्र है। यहां उद्योग एवं कल कारखानों के अभाव के कारण बरसात के समय बड़ी संख्या में लोग जीविकोपार्जन के लिए यहां से दूसरे राज्यों और महानगरों को पलायन कर जाते है। सांसद श्री ठाकुर ने कहा कि मिथिला क्षेत्र में प्रमुख रूप से गेहूं, मक्का, तिलहन, दलहन आदि फसलों की खेती होती है। इस फसल की बुवाई में किसानों को डीएपी एवं यूरिया खाद की आवश्यकता विशेष रूप से होती है।

विदित हो कि क्षेत्र भ्रमण के दौरान सांसद को किसानों ने डीएपी एवं यूरिया खाद की अनुपलब्धता दूर करने का मांग की थी। खाद की अनुपलब्धता के कारण किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिस कारण किसानों को कृषि कार्य में नुकसान का भी सामना करना पर सकता है। उन्होंने कहा कि दरभंगा सहित मिथिला क्षेत्र में अधिकांश किसान लघु और सीमांत किसान हैं। यदि समय रहते डीएपी एवं खाद की उपलब्धता सुनिश्चित नहीं की गई, तो उनकी आर्थिक स्थिति पर बुरा प्रभाव पड़ेगा। सांसद ने लोकसभा के माध्यम से विभागीय मंत्री से डीएपी एवं यूरिया खाद की अनुपलब्धता को दूर करते हुए पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित करने का अनुरोध किया, ताकि किसान अपनी फसल बुवाई निर्बाध रूप से कर सके।

खबरें और भी हैं...