पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्राथमिकी:पंचायत ने दुष्कर्म पीड़िता से सुनाया शादी का फैसला, आरोपी हुआ फरार

दरभंगाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आरोपी पक्ष ने 30 हजार में रफा-दफा करने को कहा, प्राथमिकी दर्ज

कमतौल थाना क्षेत्र के सिरहुल्ली गांव के सत्तो यादव के 22 वर्षीय पुत्र मीठू यादव उर्फ बिजली यादव ने एक नाबालिग दलित लड़की के साथ शादी का झांसा देकर करीब एक वर्ष से दुष्कर्म करता रहा। चार माह पूर्व वह गर्भवती हो गई। पीड़िता ने जब उस पर शादी के लिए दबाव दिया तो आरोपी ने शादी करने से इनकार कर दिया। बात सामने आने पर गुरुवार को गांव के किशुन साफी के घर पर सरपंच सरिता देवी के पति गौरी शंकर साह की अध्यक्षता में पंचायत हुई। जिसमें कन्हाई साफी, संजय साफी आदि पंचों ने फैसला सुनाया कि बिजली यादव ने शादी का प्रलोभन देकर उसकी इज्जत के साथ खिलवाड़ किया है। इसलिए वह उससे शादी करे। आरोपी पक्ष ने शादी से इनकार करते हुए 30 हजार रुपए में मामले को रफा-दफा करने को कहा। पंचायत ने अमान्य करते हुए पीड़ित पक्ष को थाना जाने की सलाह दी। आरोपी इस फैसले के बाद घर से फरार हो गया।

पीड़िता ने रोते हुए सारी बातें मां को बताई

जानकारी के मुताबिक बिजली यादव ने पड़ोस की एक लड़की का शादी का प्रलोभन देकर उसका यौन शोषण करने लगा। उसके शरीर में बदलाव देखकर उसकी मां ने जब उससे पूछा तो वह आपबीती सुनाते-सुनाते रो पड़ी। इसके बाद जब यह मामला प्रकाश में आया तो जंगल की आग के तरह पूरे गांव में फैल गया। यह घटना प्रकाश में आते देख पीडित परिवार ने फैसला किया कि लड़की को उस लड़के के साथ शादी कराकर लड़के के घर में ही लड़की को छोड़ दिया जाए। लेकिन परिणाम विपरीत निकला। लड़का पक्ष ने शादी करने से इनकार कर दिया। तब पंचायत में शामिल पंचों के कहने पर लहेरियासराय महिला थाना में दुष्कर्म की प्राथमिकी दर्ज कराई गई।

खबरें और भी हैं...