भेजा जाएगा प्रारूप / संस्कृत विवि के शिक्षकेतर कर्मियों को बांड पेपर देने के बाद ही मिलेगी पेंशन

X

  • विभागाध्यक्ष, कुलसचिव व प्रधानाचार्यों करनी होगी पहल, भेजा जाएगा प्रारूप

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

दरभंगा. केएसडीएसयू के शिक्षकेतर कर्मियों को सातवें पुनरीक्षित वेतनमान के आधार पर पेंशन एवं मार्च-अप्रैल माह के बिना कटौती किये भुगतान का मामला सुलझता नजर आ रहा है। शनिवार को वित्त पदाधिकारी रतन कुमार ने इस बाबत पत्र जारी कर स्थिति को स्पष्ट कर दिया है। नई व्यवस्था के अनुसार अब सभी शिक्षकेतर कर्मचारियों को एफओ कार्यालय में अगले 3 दिनों के भीतर अंडरटेकिंग लेटर जमा करना होगा। वेतन सत्यापन कोषांग यानी पीवीसी से सत्यापित वेतन व पेंशन राशि ही अंतिम रूप से देय होगी। यानी विवि से भुगतान की गई वेतन व पेंशन की राशि एवं कोषांग से सत्यापित उक्त राशि में अंतर होता है तो अंतर राशि की वसूली या सामंजन करने के लिए विवि को पूरा अधिकार रहेगा। पीआरओ निशिकांत ने बताया कि पीजी के कर्मचारियों को विभागाध्यक्षों व मुख्यालय के कर्मियों को कुलसचिव या उपकुलसचिव, अंगीभूत व संबद्ध शास्त्री-उपशस्त्री काॅलेजों के कर्मचारियों को अपने-अपने प्रधानाचार्यों से प्रति हस्ताक्षर कराकर बंधेज पत्र एफओ कार्यालय में समर्पित करना होगा। यही औपचारिकता सेवानिवृत्त कर्मचारियों को निभानी होगी। तभी वे पेंशन व दो माह के वेतन पुनरीक्षित दर से ले सकेंगे। बंधेज पत्र तैयार करने में कर्मियों को परेशानी न हो इसका भी पूरा ख्याल रखा गया है। विवि के लेखा विभाग ने इसका प्रारूप बना दिया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना