आयोजन:राजद के कुछ नेता छोटी मुंह-बड़ी बात कर रहे हैं : गोपाल

दरभंगा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पत्रकारों को संबोधित करते हुए जदयू नेता गोपाल मंडल व अन्य। - Dainik Bhaskar
पत्रकारों को संबोधित करते हुए जदयू नेता गोपाल मंडल व अन्य।
  • जिप अध्यक्ष चुनाव को लेकर बयान देने वाले स्थानीय नेता सहित राजद प्रमुख लालू प्रसाद को भी दी नसीहत

राजद नेताओं की ओर जदयू नेता मो. अली अशरफ फातमी सहित पार्टी पर गलत टिप्पणी को लेकर जदयू ने पलटवार किया है। जदयू के वरिष्ठ नेताओं की ओर से शुक्रवार को खाजासराय में प्रेस कांफ्रेस कर राजद नेताओं को नसीहत देते हुए वरिष्ठ जदयू नेता गोपाल मंडल ने कहा कि जिला परिषद उपाध्यक्ष के पद पर जदयू नेत्री ललिता झा ने 18 वोट से जीती। वहीं, हम लोगों के नेता ने जिला परिषद अध्यक्ष पद पर सीता देवी को समर्थन दिया, परन्तु कुछ नापाक गठबंधन करने वालों के कारण एक वोट से चुनाव हार गई।

मंडल ने कहा कि कल राजद के कुछ नेता पीसी कर छोटी मुंह बड़ी बात बोलने का काम किए हैं। ये राजद का कल्चर है, जो अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल इन लोगों ने किया है। जिसकी हमलोग निंदा करते हैं। और ये वही लोग हैं, जो नापाक गठबंधन कर 2010 फराज फातमी को 28 वोटों से हराया। वहीं, 2014 में अली अशरफ फातमी को और केवटी विधान सभा चुनाव में केवटी से अब्दुल बारी सिद्दीकी को हराने का काम किया है। मो अली अशरफ फातमी जहां रहते हैं, पूरी ईमानदारी और निष्ठा से रहते हैं। उन लोगों की तरह नहीं जो पार्टी में रहकर नापाक गठबंधन करते हैं। जदयू राज्य परिषद सदस्य श्याम किशोर प्रधान ने कहा कि बदरे आलम बदर जदयू के जिलाध्यक्ष रह चुके हैं और वे पार्टी विरोधी काम किया और नापाक गठबंधन वाले लोगों से हाथ मिलाने का काम किया था। जिस वजह से पार्टी ने इन्हें निष्कासित करने का काम किया। उमेश राय भी जदयू में ही थे। किसी पार्टी के जिलाध्यक्ष का इतना घटिया टिप्पणी घोर निंदनीय है। हमारे नेता नीतीश कुमार सामाजिक न्याय, लोहिया, कर्पूरी, अम्बेडकर के रास्ते पर चलने वाले नेता हैं। जदयू पार्टी से निष्कासित बदरे आलम बदर से सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है। जदयू राज्य परिषद सदस्य पूर्व डिप्टी मेयर मुमताज आलम ने कहा कि मो अली अशरफ सभी वर्गों के लिए काम करते हैं। दरभंगा में दर्जनों बड़े बड़े काम किए हैं, जो जग जाहिर है।

आरजेडी के नेता बताए कि 15 वर्षों तक आरजेडी का सरकार थी, लालू प्रसाद का अल्पसंख्यकों के कल्याण में उनका क्या योगदान था। आज नीतीश कुमार की हुकूमत में अल्पसंख्यको के विकास के लिए हर क्षेत्रों में काम किया गया है। जदयू नेता राशिद जमाल ने कहा कि जब फातमी आरजेडी में हुआ करते थे, तो दरभंगा में राजद का परचम लहराता था। आज जदयू में हैं, तो एनडीए का परचम लहरा रहा है। फातमी अल्पसंख्यकों के विकास के लिए दिनरात काम करते हैं।

खबरें और भी हैं...