लॉकडाउन में हिंसा की घटनाएं बढ़ी / लॉकडाउन में आपराधिक घटनाओं की रिपोर्ट एसएसपी ने अधिकारी को भेजी

X

  • लॉकडाउन फेज वन और टू में कम हुई आपराधिक घटनाएं
  • लॉकडाउन के दौरान हिंसा की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

दरभंगा. कोरोना वायरस को लेकर लगे लॉक डाउन के बीच सम्पति मूलक अपराध की घटनाएं साथ ही संज्ञेय अपराध की घटना कम हुई मगर हिंसा की घटनाएं बढ़ी है। लोग हत्या के लिए उतारू हो जाने लगे हैं। इसी का नतीजा है कि अप्रैल में जहां संज्ञेय अपराध 437 रही वहीं, मार्च में यह 576 थी। हालांकि अनुक्रमित माह में यह आंकड़ा 447 पर था। हिंसक घटनाओं की बात करें तो अप्रैल में हत्या की घटना 3 रही, मार्च में 2 जबकि अनुक्रमिक माह में भी 3 रही। वैसे हत्या की प्रयास की घटनाएं काफी बढ़ी है। अप्रैल माह में 13 जबकि मार्च में 6 और अनुक्रमिक माह में शून्य रहा था। लूट की घटना अप्रैल में 2, मार्च में शून्य जबकि अनुक्रमिक माह में भी 2 था। 
 बंद घर में चोरी की बात करे तो अप्रैल माह में 11, मार्च में 9 जबकि अनुक्रमिक माह में 15 था। अन्य तरह की चोरी की घटनाओं में अप्रैल 16, मार्च 13 जबकि अनुक्रमिक माह में 18 था। वाहन चोरी में कमी आई है। अप्रैल में वाहन चोरी 7, मार्च में 18 जबकि अनुक्रमित माह में 31 वाहन चोरी हुई है। अन्य आपराधिक घटनाओं में कमी आई है। मालूम हो कि पेज वन मार्च के 24 तारीख को लगा। फिर फेज टू अप्रैल में और अभी चौथे फेज में हैं मगर सीआईडी विभाग के सूत्र बताते हैं कि अब सम्पति मूलक और हिंसक घटनाओं में इजाफा की संभावना है। कुछ प्रवासियों के बीच स्थानीय गतिविधि से स्थिति बिगड़ सकती है। वहीं, एसएसपी बाबू राम ने भी माना है कि लॉकडाउन में आपराधिक घटनाओं में कमी आई है। उन्होंने वरीय अधिकारियों को भी यह रिपोर्ट भेजी है। मई माह की समाप्ति अभी शेष है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना