पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नामांकन:डिग्री वन में एडमिशन शुरू नहीं होने से छात्र परेशान, वेंडर नियुक्ति का फंसा पेंच

दरभंगा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एलएनएमयू में 2,82,704 सीटों पर 4 जिले के 42 अंगीभूत व 30 संबद्ध कॉलेजों में होना है नामांकन

एलएन मिथिला यूनिवर्सिटी में डिग्री वन में एडमिशन की प्रक्रिया प्रारंभ नहीं होने से छात्र एवं अभिभावकों की परेशानी बढ़ती जा रही है। यूनिवर्सिटी में नामांकन समिति के निर्णय के बाद भी नामांकन प्रक्रिया प्रारंभ नहीं होने से कई तरह की चर्चाएं चल रही है। जानकार का कहना है कि इस मामले में अनावश्यक निर्देश रूप से अधिकारी पेंच पर पेंच फंसा रहे हैं। पूर्व प्रभारी कुलपति प्रो. राजेश सिंह ने नामांकन समिति के निर्णय के बाद प्रक्रिया प्रारंभ में विलंब कर देने से पेंच फंसता जा रहा है।

जिससे विवि के क्षेत्रांतर्गत दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर व बेगूसराय जिले के 42 अंगीभूत एवं करीब 30 संबद्ध कॉलेज प्रभावित हो रहे हैं। इस विवि में डिग्री वन में नामांकन के लिए कुल 2,82,704 सीट है। एक दरभंगा जिले में इंटरमीडिएट में करीब 36 हजार छात्र-छात्राएं पासआउट हो चुके हैं। यानी पूरे विवि क्षेत्र में करीब ढ़ाई लाख से अधिक छात्र-छात्राएं नामांकन की प्रतीक्षा में 5-6 माह से हैं। एडमिशन कमेटी के निर्णय के बाद भी नामांकन की प्रक्रिया प्रारंभ नहीं होने से अब आम लोगों के बीच विवि प्रशासन की किरकिरी होने लगी है। कभी सूबे भर में विश्वविद्यालयों की सूची में प्रथम स्थान पर रहने वाला एलएनएमयू में अब तक डिग्री वन में नामांकन की प्रक्रिया प्रारंभ नहीं होने से अब संदर्भित अधिकारी भी हताश नजर आने लगे हैं। बार-बार कुरेदने के बाद भी कोई प्रतिक्रिया देने से कतरा ने लगे हैं। कमेटी में ये सब थे पदाधिकारी | डीएसडब्ल्यू प्रो. रतन कुमार चौधरी की अध्यक्षता में वेंडर बदलने को लेकर गठित कमेटी मंें डीन फाइन ऑर्ट्स डॉ. पुष्पम नारायण, परीक्षा नियंत्रक डॉ. एसएन राय, सीएम कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. मुश्ताक अहमद, डीआरटू डॉ. अखिलेश्वर सिंह, डॉ.अवनि रंजन सिंह, स्टेट ऑफिसर डॉ. विजय कुमार यादव एवं एफओ एफ रहमान सदस्य थे। रजिस्ट्रार कर्नल निशीथ कुमार राय के संयोजकत्व में गठित दूसरी कमेटी में स्टेट ऑफिसर डॉ. विजय कुमार यादव, कंट्रोलर डॉ. एसएन राय, डिप्टी कंट्रोलर डॉ. यूके दास व एमआरएम कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. अरविंद कुमार झा शामिल थे।

विवि प्रशासन ने 5 सदस्यीय कमेटी ने नए वेंडर को काम देने की कर दी थी अनुशंसा
लेकिन, विवि प्रशासन के विपरीत इस निर्णय से दुखी प्रभारी कुलपति प्रो. सिंह ने फिर 5 सदस्यीय कमेटी गठित कर निर्णय लेने को कहा। इस कमेटी में पुराने कमेटी से सिर्फ स्टेट आफिसर ही रहे। बांकी नये सदस्य थे। इस कमेटी में तत्काल नये वेंडर से नामांकन प्रक्रिया प्रारंभ कराते हुए बाद में टेंडर निकाल कर काम करने की अनुमति देने पर सहमति बनी। इसमें नामांकन के बदले वेंडर को करीब 12 लाख रुपया भुगतान करने की भी यह कमेटी अनुशंसा की थी। जबकि, वित्तीय कोई निर्णय लेने की विवि में एक विहित प्रक्रिया होती है। इस निर्णय के बाद जब संचिका आगे बढ़ी तो फिर डीएसडब्ल्यू के विस्तृत कमेंट पर वित्तीय अनुशासन को ध्यान में रखकर एफए सीधे कोई नयी कंपनी को काम देने पर अपनी सहमति नहीं दी। इसके बाद से ही अभी तक डिग्री वन में नामांकन को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है।​​​​​​​

नामांकन तिथि की घोषणा के बाद भी विलंब
जब उच्च शैक्षणिक संस्थान कोई निर्णय लेकर उसकी तिथि की घोषणा के बाद भी वह काम नहीं कर पाते हैं तो समाज में परेशानी होती है। साथ ही युवाओं के बीच एक गलत मैसेज भी जाता है। क्योंकि, जब शिक्षण संस्थान ही गलती पर गलती करेंगे तो युवा क्या करेंगे। वर्तमान समय में मिथिला यूनिवर्सिटी की यही स्थिति है। 29 जुलाई को विवि में नामांकन समिति की बैठक हुई थी। जिसमें 4 अगस्त से नामांकन लेने की घोषणा कर दी गई। लेकिन, अभी तक प्रक्रिया प्रारंभ नहीं हो सकी। इस बात को ध्यान पर रखते हुए डीएसडब्ल्यू की अध्यक्षता में 7 सदस्य कमेटी गठित किया गया। कमेटी ने नामांकन से संबंधित काम देख रहे पहले वाली कंपनी से ही इस बार नामांकन लेने की अनुशंसा की। लेकिन, विवि प्रशासन को यह मंजूर नहीं हो सका।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें