पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खरना आज:बागमती के 10 घाटों पर सफाई व बैरिकेडिंग का कार्य लगभग पूरा, कई घाटों पर सीढ़ी बनाने का काम जारी

दरभंगा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नहाय-खाय के साथ शुचिता व पवित्रता का चार दिवसीय महापर्व छठ की हुई शुरुआत

स्थान : किलाघाट पुल। दिन : बुधवार। समय : 11:35 बजे। किलाघाट पर निगम की ओर से भेजे गए 8 सफाई कर्मी घाट की सफाई एवं बैरिकेडिंग का काम करने में व्यवस्था थे। कुछ दिन पहले ही आई बाढ़ के कारण घाटों पर ज्यादा गंदगी नहीं थी। नदी का जलस्तर भी कम होने के कारण बैरिकेट लगाना भी कर्मियों के लिए आसान था। यहां चूना व ब्लिचिंग का छिड़काव का काम बचा हुआ है। वहीं 11:50 बजे रामबाग घाट पर तैयारी देखने पहुंचे। रामबाग घाट की सफाई कार्य में कर्मी लगे हुए थे। व्रतियों के प्रसाद की टोकड़ी को रखने के लिए सीढ़ी जैसा स्थान को समतलीकरण किया जा रहा था।

इस घाट पर शहर के कुछ चुनिंदा परिवारों के वर्ती सूर्योपासना के लिए विगत वर्षों से आते रहे है। घाट पर चल रहे काम को दूर देख रहे मनीष कुमार ने कहा कि निगम प्रशासन की ओर से कार्य होने के बाद स्थानीय लोग फिनिशिंग टच देते है। 12: 20 बजे बागमती नदी किनारे बने राम जानकी मंदिर के निकट बने घाट पर निगम के 7 कर्मी सफाई कार्य में लगे हुए थे। दो कर्मी नदी के पानी में जमा कचरा को निकाल रहे थे। वहीं तीन कर्मी घाट के किनारे से मिट्टी की कटाई करके सीढ़ी बना रहे थे। इन घाटों से गंदगी एवं बैरिकेडिंग का काम बुधवार को ही पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित कर कार्य किया जा रहा था।

चमकने लगे घाट : हराही पोखर, नारद, सक्का, रहमी, इमली आदि घाट तैयार

निगम कर्मियों ने कहा : जितना टारगेट दिया गया था, उतना काम पूरा हो चुका है

12:45 बजे नारद घाट पर 8 कर्मी बैरिकेडिंग लगाने का काम कर रहे थे। यहां काम करने वाले कर्मियों ने कहा कि जितना टारगेट दिया गया था, अधिकतर पूरा हो चुका है। अब बल्ली बांधेंगे और कुछ लोग सीढ़ी बनाने का काम करेंगे। ताकि आने वालों को प्रसाद का डाला रखने में दिक्कत नहीं हो। कमोबेश इतनी ही तैयारी शाम 4 बजे तक सक्का घाट, रहमी घाट, सीएम कॉलेज घाट, इमली घाट, कमौली घाट, जीतू गाछी, फुलवारी घाट, वृंदावन आदि घाटों की भी हो चुकी थी। चुना व ब्लिचिंग पाउडर का छिड़काव करने का काम बचा हुआ था। स्थानीय लोगों की शिकायत थी कि घाटों पर बिजली व्यवस्था अब तक निगम की ओर से नहीं की गई है।

व्रती आज से 48 घंटे का निर्जला उपवास रहेंगी, कल अस्ताचलगामी को अर्घ्य

सुचिता, पवित्रता, त्याग व समर्पण का चार दिवसीय सूर्योपासना का महापर्व बुधवार को नहाय खाय के साथ शुरू हुआ। छठ व्रती पवित्र नदियों, सरोवरों व तालाबों में स्नान कर सूर्य की पूजा में तन व मन से लग गई हैं। स्नान के बाद छठ व्रतियों ने अरवा चावल, मूंग की दाल व कद्दू की सब्जी बना कर भोजना किया। वहीं परिवार के अन्य सदस्य अन्य कार्यों में लग रहे। किसी ने घर के अंदर व बाहर सघन सफाई की तो किसी ने गेहूं धोकर उसके छत पर खड़े होकर सूखाया। तालाबों, पोखरों व नदियों पर बने घाटों की साफ-सफाई में लोग दिन भर लगे रहे। सभी छठ व्रती आज से लगातार निर्जला उपवास में रहेंगी। आज खरना के दिन छठ के लिए खीर व रोटी का प्रसाद तैयार होगा। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष में मनाए जाने वाला छठ भारत के हर कोने- कोने व विदेशों में भी बड़ी आस्था व निष्ठा से मनाया जाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर जमीन जायदाद संबंधी कोई काम रुका हुआ है, तो आज उसके बनने की पूरी संभावना है। भविष्य संबंधी कुछ योजनाओं पर भी विचार होगा। कोई रुका हुआ पैसा आ जाने से टेंशन दूर होगी तथा प्रसन्नता बनी रहेगी।...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser