पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाढ़ का खतरा:शहर के वार्ड 8 व 23 तक पहुंची बागमती नदी की बाढ़, लोग बदलने लगे आशियाना

दरभंगा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहर के किलाघाट के पुराना पुल के करीब पहुंचा बागमती नदी का पानी। मोहल्ले में भी पहुंचने की जताई जा रही संभावना। - Dainik Bhaskar
शहर के किलाघाट के पुराना पुल के करीब पहुंचा बागमती नदी का पानी। मोहल्ले में भी पहुंचने की जताई जा रही संभावना।
  • निचले इलाके से लोग दूसरे मोहल्लों में किराए पर लेने लगे मकान, भय व्याप्त

शहर के किनारे से गुजरने वाली नदी बागमती के जलस्तर में वृद्धि के साथ ही शहर के निचले मोहल्लों में नदी का पानी फैलने लगा है। वार्ड नंबर 23 के बाहरी मोहल्ले महदौली, वाजिदपुर आदि में बागमती नदी का पानी तेजी से फैलने लगा है। जिसके कारण लोग दहशत में हैं। नीमा, गीदरगंज, सीएम कॉलेज किनारे तक नदी का पानी पहुंच गया है। नगर निगम प्रशासन बढ़ते हुए पानी पर नजरे बनाए हुए है। लेकिन रोकने में असफल है। क्योंकि पानी का फैलाव शहर के पश्चिमी क्षेत्र के चौर से हो रहा है।

इसकी जद में ओझौल पंचायत का मुसेपुर मोहल्ला भी आ गया है। कई परिवारों ने अपने पशुओं को बढ़ते पानी से बचाने के लिए उंचे स्थलों की तलाश में अभी से ही जुट गए हैं। वहीं किलाघाट-महदौली पुल की पश्चिमी छोड़ पर बसे मकान भी नदी के पानी से घिरने लगे हैं। दो दिनों से बारिश नहीं होने से मंगलवार तक नदी के पानी के बढ़ने की रफ्तार हालांकि पहले से कम हुई है। लेकिन मौसम का मिजाज देखते हुए लोग सशंकित हैं। इसी प्रकार वार्ड नंबर 8 में भी बागमती के तट पर बसे मोहल्लों में पानी प्रवेश करने लगा। बाढ़ की आशंका को देखते हुए कई लोगों ने अपना घर छोड़कर अभी से ही दूसरे मोहल्ले में किराए के मकान में शिफ्ट होने लगे हैं। वार्ड नंबर 1, 2, 3 आदि के मोहल्लों में तो नदी का पानी नहीं पहुंचा है। लेकिन मोहल्ले से बाहरी क्षेत्र में पानी के बढ़ने की रफ्तार बनी हुई है। पार्षदों का कहना है कि जलनिकासी के मार्ग से ही नदी का पानी आने की संभावना है। अभी तक तो मोहल्ला में पानी प्रवेश नहीं किया है। लेकिन कब पानी की रफ्तार बढ़ जाए कहना मुश्किल है।

बरसाती पानी निकालने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा पंपसेट

नगर निगम प्रशासन नदी में बढ़ते पानी की रफ्तार को देखते हुए अलर्ट मोड में है। शहर की जलनिकासी के लिए बने स्लुइस गेट की लगातार निगरानी करवाई जा रही है। नगर निगम के जेई जितेंद्र कुमार ने बताया कि दो स्लुइस गेट में हल्का रिसाव की सूचना मिली थी। त्वरित आधार पर आपदा प्रबंधन विभाग को सूचना देकर रिसाव को समाप्त करने के सूचित कर दिया गया है। नगर निगम की ओर से लगातार निगरानी किया जा रहा है। जिन मोहल्लों में बरसाती पानी जमा है वहां नगर निगम की ओर से पंप सेट से पानी निकालने का काम चल रहा है। भीगो, उर्दू बाजार, किलाघाट, दुमदुमा आदि बांध से सटे मोहल्ले शामिल है।

किरतपुर में कोशी नदी के तटबंध पर बाढ़ आपदा सूचना केंद्र हुआ स्थापित

बिहार सेवा समिति यूनिसेफ व जिला प्रशासन के सहयोग से किरतपुर चौक के कोशी तटबंध पर बाढ़ आपदा सूचना सह संसाधन केंद्र प्रचार-प्रसार के लिए स्थापना की गई। इसका उद्घाटन सीओ सतीश कुमार व चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. पीके ठाकुर, बिहार सेवा समिति के टीम लीडर श्याम कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से फीता काट कर उद्घाटन किया गया। उद्घाटन के बाद सीओ सतीश कुमार ने बताया कि इस सूचना केन्द्र को स्थापित होने से प्रखंड क्षेत्र के लोगों को सहमत बाढ़ एवं कोविड जैसे आपदाओं के बारे में जानकारी मिल जाएगी। वहीं प्रखंड समन्वयक रासमोहन झा ने सूचना केंद्र के उद्देश्य के बारे में विस्तार से जानकारी दिया। इस मौके पर स्वास्थ्य प्रबंधक सहित कई लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...