धरना:इंजीनियरिंग कॉलेज के महिला छात्रावास में पानी व जेनरेटर की सुविधा नहीं, छात्राओं ने दिया धरना

दरभंगा सदर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दरभंगा इंजीनियरिंग कॉलेज के गेट पर धरना देतीं छात्राएं। - Dainik Bhaskar
दरभंगा इंजीनियरिंग कॉलेज के गेट पर धरना देतीं छात्राएं।
  • शिक्षण भवन एवं प्रशासनिक भवन के मुख्य गेट में जड़ा ताला, कॉलेज का काम-काज हुआ बाधित

दरभंगा इंजीनियरिंग कॉलेज के 7वें सेमेस्टर एवं 5वें सेमेस्टर की छात्राओं ने पानी और जेनरेटर की सुविधा देने के लिए गुरुवार को शिक्षण भवन एवं प्रशासनिक भवन के मुख्य गेट में ताला बंद कर धरना दिया। कॉलेज के सभी कार्यों को लगभग 3 बजे दिन से बाधित कर दिया। कार्य बाधित होने के बाद छात्राओं से वार्ता करने के लिए वरीय प्राध्यापक एवं कुछ अन्य शिक्षक आए, किंतु छात्राएं नहीं मानीं। देर शाम तक शिक्षक एवं छात्राओं के बीच वार्ता सफल नहीं होने के बाद कॉलेज के सभी शिक्षक वापस चले गए। लेकिन छात्राएं मुख्य गेट पर बैठी रहीं। प्रदर्शन कर रही छात्रा आकांक्षा कुमारी, निवेदिता कुमारी, राशि कुमारी, मुस्कान कुमारी, नेहा कुमारी और शिवानी कुमारी ने बताया कि हॉस्टल में सुविधा के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की जा रही है।

पीने के लिए पेयजल की भी व्यवस्था नहीं है। साथ ही साथ छात्रावास में जेनरेटर भी नहीं से बिजली चले जाने के बाद अंधेराे में रहना पड़ता है। छात्रावास के बाहर गार्ड के नाम पर केवल खानापूर्ति की जाती है जिसके वजह से कई बार ऐसा देखा गया है कि बाहरी लड़के छात्रावास के अंदर चले आते हैं। इसके अलावा छात्रावास के मुख्य गेट पर ताला नहीं लगाया जाता है। महिला छात्रावास होने के कारण यहां पर छात्रावास के केवल मुख्य गेट एवं बाहरी भागों में कैमरा लगना काफी अनिवार्य था किंतु छात्रावास के बाहर एक भी कैमरा नहीं लगाया गया है।

खबरें और भी हैं...