पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आक्राेशित लोगों ने किया सड़क जाम:चाय दुकानदार व राहगीर काे रौंदते हुए बस 12 फीट गड्‌ढे में जा पलटी, लोगों ने बचाई बस के 50 यात्रियों की जान

दरभंगा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दरभंगा-समस्तीपुर स्टेट हाई-वे के सैदनगर स्थित जनकपुरी के पास बस दुर्घटना के बाद उमड़ी लोगों की भीड़। - Dainik Bhaskar
दरभंगा-समस्तीपुर स्टेट हाई-वे के सैदनगर स्थित जनकपुरी के पास बस दुर्घटना के बाद उमड़ी लोगों की भीड़।
  • घटनास्थल के नजदीक हाेने के बावजूद विलंब से पहुंची लहेरियासराय थाना पुलिस

स्थान : बहादुरपुर थाने के सैदनगर जनकपुरी माेहल्ला। समय : सुबह 7:30 बजे। दिन : बुधवार। दरभंगा-समस्तीपुर मुख्य मेन रोड में आम दिनाें की तरह लाेगाें व वाहनाें की आवाजाही थी। लहेरियासराय के लाेहिया चाैक से सुबह 7:25 बजे करीब 50 यात्रियाें काे लेकर शिवम डीलक्स नामक बस समस्तीपुर के लिए खुली। महज पांच मिनट बाद ही 7:30 बजे बस चाय दुकानदार व एक साइकिल सवार राहगीर काे कुचलते हुए सड़क किनारे 12 फीट पानी से भरे गड्ढे में लुढ़क गई। घायल चाय दुकानदार व साइकिल सवार जिंदगी बचाने के लिए सड़क पर छटपटा रहे थे ताे बस में फंसे घायल यात्री अपनी जिंदगी बचाने से चिल्लाते हुए बचाओ बचाओ की गुहार लगाते रहे।

लेकिन वहां माैजूद पुलिस कर्मी, आम जन व अमेजॉन कोरियर के करीब 25 युवक सड़क पर घायल एवं बस में फंसे यात्रियाें काे निकालने में जुट गए। लाेग बस का शीशा ताेड़कर अंदर घुसे एवं यात्रियाें काे बस से निकाला। वहां के लाेगाें ने बताया कि घटनास्थल से महज आधा किलाेमीटर की दूरी रहने के बावजूद थाना क्षेत्र नहीं हाेने के कारण लहेरियासराय थाना पुलिस विलंब से पहुंची। लेकिन चार किलाेमीटर की दूरी पर स्थित बहादुरपुर थाने के थानाध्यक्ष सह प्रशिक्षु डीएसपी राम कृष्ण सूचना मिलते ही अपने पर्सनल गाड़ी से पहुंच कर अपने बाॅडीगार्ड के साथ मिलकर घायलाें काे बचाने में जुट गए। लाेगाें काे गुस्सा इस बात का था कि लहेरियासराय थाना पुलिस नजदीक हाेने के बावजूद विलंब से पहुंची।

नाती काे जालंधर की ट्रेन पकड़ाने समस्तीपुर जा रहे थे कृष्ण नंदन

डीएमसीएच में इलाजरत कृष्ण नंदन झा ने बताया कि दरभंगा जंक्शन से ट्रेन सेवा रद्द हाेने के वजह से वह पत्नी सुनीता देवी के साथ अपने नाती 8 साल के अार्यन काे पहुंचाने जालंधर जा रहे थे। उन्हाेंने बताया कि बस का संतुलन बिगड़ने से यह हादसा हुआ। इस हादसे में वे व उनकी पत्नी भी गंभीर रूप से जख्मी हाे गई।

यात्रियाें के चिल्लाने की अावाज सुन जान बचाने में जुट गए लाेग

कुरियर कंपनी के सुनील चाैधरी ने बताया कि वे लाेग अपनी दुकान का शटर खाेल रहे थे। अचानक बस दाे लाेगाें काे कुचलते हुए सड़क के किनारे लुढ़क गई। बस में फंसे यात्रियाें काे बचाने के लिए उनके कुरियर के करीब 25 युवक जुट गए। हम लाेग बस का शीशा ताेड़कर अंदर घुसे अाैर फंसे यात्रियाें काे बस से निकालकर इलाज के लिए भेजा गया।

सैदनगर में हुए बस हादसे में मृतकों एवं घायलों की सूची

बस हादसे में मृतकों में रतन कुमार साह और मो. हासिम का नाम शामिल है। वहीं घायलों की सूची में कृष्ण नंदन झा (60 वर्ष), सुनीता देवी (51), उर्मिला देवी (62), विकास ठाकुर (25), अनिता कुमारी (25), प्रदीप कुमार झा (50), विकाश चौधरी (21), विमला देवी (62), साहिल कुमार (20), अकरू राम (40) का नाम शामिल है।

बाेले प्रत्यक्षदर्शी

दुकानदार से चाय लेकर सड़क की दूसरी ओर जाकर पी रहे थे

प्रत्यदर्शी सुनील चाैधरी व सुनील साफी ने बताया कि वे लाेग सुबह करीब 7:30 बजे चाय दुकानदार रतन कुमार साह से चाय लेकर सड़क के उस पार जाकर पी रहे थे। अचानक हुए हादसे के बाद अफरातफरी मच गई। बस में फंसे लाेगाें के चिल्लाने की आवाज सुनकर लाेग दाैड़ पड़े। फिर सब लोगाें ने बस के शीशे तोड़कर दर्द से कराह रहे यात्रियाें को बाहर निकाला।

खबरें और भी हैं...