एजुकेशन / दो वर्षीय बीएड की प्रवेश परीक्षा पर अभी तक संशय

X

  • पहली जुलाई से संभावित थी अप्लाई की तिथि

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 04:00 AM IST

दरभंगा. एलएनएमयू के माध्यम से बीएड के दो कोर्सों में नामांकन को लेकर आयोजित होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा को लेकर संशय की स्थिति बरकरार है। इस दोनों परीक्षाओं के लिए एलएनएमयू को नोडल यूनिवर्सिटी के रूप में राजभवन की ओर से नामित किया गया है। 2 वर्षीय बीएड कोर्स में प्रवेश को लेकर अप्लाई की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।

लेकिन, कोरोना संक्रमण के कारण यह परीक्षा बाधित हुई है। इधर, परीक्षा को लेकर सर्वोच्च न्यायालय व भारत सरकार के एमएचआरडी मंत्रालय की दृष्टिकोण के कारण अंतिम निर्णय लेने में अभी अधिकारी भी अपने को सक्षम नहीं समझ पा रहे हैं। हालांकि, 2 वर्षीय बीएड कोर्स के नोडल पदाधिकारी प्रो. अजीत कुमार सिंह कुलपति से विमर्श के बाद इससे संबंधित प्रस्ताव राजभवन भेज सकते हैं। दूसरी ओर 4 वर्षीय इंट्रीग्रेटेड बीए बीएड व बीएससी बीएड कोर्स में पहली जुलाई से अप्लाई होना था। लेकिन, इस संबंध में भी प्रभारी कुलपति को मुख्यालय से बाहर रहने के कारण कोई निर्णय नहीं हो सका है। 

कुलपति पर निर्भर करता है कोई निर्णय

एलएनएमयू वीसी के लिए 28 जून को इंटरव्यू की प्रक्रिया पूरी कर ली गई। 2 वर्षीय बीएड कोर्स के नोडल पदाधिकारी प्रो. अजीत कुमार सिंह ने कहा कि वीसी से विमर्श के बाद प्रवेश परीक्षा नहीं होने की स्थिति में अंक के आधार पर नामांकन लेने संबंधी प्रस्ताव राजभवन भेजा सकता है। जबकि, 4 वर्षीय इंट्रीग्रेटेड बीए बीएड व बीएससी बीएड कोर्स के नोडल पदाधिकारी प्रो. अशोक कुमार मेहता कहते हैं कि पहले इस कोर्स में प्रवेश परीक्षा के लिए अप्लाई कराने के लिए 1 से 15 जुलाई तक की संभावित तिथि थी। लेकिन, वीसी को बाहर रहने के कारण इस पर अंतिम निर्णय नहीं हो सका है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना