पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्यक्रम:डब्ल्यूआईटी के स्वरूप को बदलने की कोशिश के खिलाफ एकजुट हुए विभिन्न छात्र संगठन, आंदोलन का किया एलान

दरभंगा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक करते वाम जनवादी छात्र संगठन के नेता। - Dainik Bhaskar
बैठक करते वाम जनवादी छात्र संगठन के नेता।
  • नामांकन के दौरान सीट नहीं भरने से चिंतित विश्वविद्यालय प्रशासन फिलहाल छात्र-छात्राओं के को-एजुकेशन पर कर रहा मंथन

ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय से संबंध डब्ल्यूआईटी के स्वरूप को बदलने की विश्वविद्यालय प्रशासन की कोशिश के खिलाफ वाम जनवादी छात्र संगठन के नेताओं ने बुधवार को बैठक आयोजित कर विरोध दर्ज किया। साथ ही इस संबंध में एक मांग पत्र कुलपति को सौंपा। मालूम हो कि नामांकन के दौरान सीट नहीं भरने से चिंतित विश्वविद्यालय प्रशासन अभी छात्र छात्राओं के लिए को-एजुकेशन पर मंथन करने में लगा है। जिस पर छात्र संगठनों को आपत्ति है। समझा जाता है कि एक-दो दिनों में इस पर कोई निर्णय ले लिया जाएगा।

दूसरी ओर छात्र नेताओं ने कहा है कि हमलोगों को जानकारी प्राप्त हुई है कि डब्ल्यूआईटी के स्वरूप को बदलने की कोशिश विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से हो रही है। यह मिथिलांचल के आम आवाम के खिलाफ है। डब्ल्यूआईटी महिला शिक्षा को समर्पित संस्था है। जिसका उद्देश्य मिथिला के हर गांव से एक लड़की को इंजीनियर बनाना है। यह संस्थान पिछले 16 वर्षों से अपने स्थापना के उद्देश्यों को पूरा करने में लगा हुआ है। यह गौरव का विषय रहा है की डब्ल्यूआईटी की स्थापना पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के मार्गदर्शन में हुई थी।

देश को तेजस लड़ाकू विमान देने वाले पद्मश्री डॉ. मानस बिहारी वर्मा ने इस संस्थान को सींचा है। इससे सहज डब्ल्यूआईटी की महत्व का अंदाजा लगाया जा सकता है। हमें यह भी सूचना मिल रही है कि डब्ल्यूआईटी के संस्थापक कुलपति व मैनेजिंग काउंसिल के वर्तमान सदस्य प्रो.राजमणि प्रसाद सिन्हा ने भी मौजूदा प्रस्ताव पर अपनी आपत्ति दर्ज करा दी है। छात्र संगठन के नेताओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन से मांग की है कि डब्ल्यूआईटी के स्वरूप व उद्देश्यों में बिना बदलाव किए हुए अविलंब नए सत्र के नामांकन की प्रक्रिया शुरु की जाय।

ऐसा नहीं होने पर हम सभी छात्र संगठन उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। जिसकी पूरी जिम्मेदारी विश्वविद्यालय प्रशासन की होगी। अध्यक्षता आईसा राज्य सह सचिव संदीप कुमार चौधरी ने की। मौके पर जन अधिकार छात्र परिषद के प्रदेश प्रवक्ता दीपक झा, जिला अध्यक्ष दीपक स्टार, विवि अध्यक्ष कुणाल पांडेय, छात्र राजद के प्रमंडलीय अध्यक्ष प्रवीण कुमार प्रशांत,आइसा जिला कार्यकारी सचिव मयंक कुमार यादव, संदीप कुमार, एआईएसएफ जिला सचिव शरद कुमार सिंह, छात्र राजद से कृष्ण यादव, रमेश रमन, सोनू रौशन, सुमित राज, जन अधिकार छात्र परिषद अमित कुमार सहित दर्जनों शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...