पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समीक्षा बैठक:जहां 5 से 7 दिनों तक घर में पानी रहा वहीं के लोगों को मिलेगी जीआर राशि

दरभंगा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आंबेडकर सभागार में आयोजित बाढ़ को लेकर समीक्षा बैठक में शामिल पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
आंबेडकर सभागार में आयोजित बाढ़ को लेकर समीक्षा बैठक में शामिल पदाधिकारी।
  • केवटी में पानी बढ़ेगा तो खरूआ पंचायत भी होगी प्रभावित, डीएम ने कहा-

कलेक्ट्रेट स्थित अम्बेडकर सभागार में डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम की अध्यक्षता में बाढ़ समीक्षा बैठक की गई। इसमें बाढ़ प्रभावित प्रखंडों के सीओ, बीडीओ एवं वरीय प्रभारी पदाधिकारी से बाढ़ की स्थिति के संबंध में फीडबैक लिया गया। बहादुरपुर अंचल के सीओ ने कहा कि तारालाही, ओझौल, खराजपुर एवं मनिहारी पंचायत प्रत्येक वर्ष बाढ़ प्रभावित हो जाता है। वर्तमान में मनिहारी के तेलिया पोखर में पानी आया है। तेलिया पोखर में सामुदायिक रसोई प्रारंभ करने का आदेश दिया गया है लेकिन अभी मनिहारी सिमरा निहालपुर का पहुंच पथ चालू है। डीएम ने कहा कि संबंधित पंचायत एवं गांव का वीडियोग्राफी करा लें। जीआर (बाढ़ सहाय्य अनुदान) के लिए आवश्यक है कि पहुंच पथ डूब गया हो एवं 5 से 7 दिनों तक घर में पानी रहा हो। यह जरूरी नहीं कि पूरा गांव बाढ़ प्रभावित होगा तभी अनुदान की राशि मिलेगी यदि कुछ घरों में भी पानी प्रवेश कर जाता है तो उन परिवारों को बाढ़ अनुदान राशि प्राप्त होगी जिनके घर में पानी प्रवेश कर गया है। पशुपालन पदाधिकारी का वेतन स्थगित कर डीएम ने मांगा स्पष्टीकरण| हनुमाननगर के सीओ ने कहा कि बहपत्ती, अम्माडीह, पंचफूटिया एवं सिरनियां में सामुदायिक किचन चलाया जा रहा है। सिरनिया और पंचफूटिया में चापाकल भी लगवा दिया गया है। बैठक से अनुपस्थित पशुपालन पदाधिकारी बालेश्वर प्रसाद का वेतन स्थगित करते हुए उनसे डीएम ने स्पष्टीकरण मांगने का निर्देश दिया। सदर अंचल के हुई समीक्षा में अधिकारियों ने कहा कि लोआम एवं बासुदेवपुर में पानी प्रवेश कर गया है। काकर घाटी एवं खरूआ में भी पानी प्रवेश करने की संभावना है। केवटी में पानी बढ़ेगा तो खरूआ पंचायत भी प्रभावित होगा।

बेनीपुर सीओ ने कहा- अभी कोई भी पंचायत या गांव बाढ़ प्रभावित नहीं
डीएम ने डीसीएलआर सदर को बाजपट्टी, शहवाजपुर, बासुदेवपुर एवं लोआम का भ्रमण कर बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने का निर्देश दिया। कुशेश्वरस्थान पूर्वी के सीओ ने कहा कि केवटगामा पुल के पास का पहुंच पथ एवं खलासीन मार्ग में सड़क की स्थिति खराब हो गई है। बैठक में ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता को इन स्थलों का मुआयना करने का निर्देश दिया गया। बेनीपुर के सीओ ने कहा कि बेनीपुर में अभी कोई भी पंचायत या गांव बाढ़ प्रभावित नहीं है।

केवटी की 23 पंचायतें बाढ़ प्रभावित
केवटी सीओ ने कहा कि 26 में से 23 पंचायत बाढ़ प्रभावित हो गया है। पूरे प्रखंड क्षेत्र में 67 सामुदायिक रसोई चलाए जा रहे हैं। जिनमें 23 हजार 307 लोगों को भोजन कराया जा रहा है। अब तक 516 पॉलीथिन शीट का वितरण बाढ़ प्रभावित परिवारों के बीच करवाया गया है। असराहा में पानी घटा है लेकिन पूरब दिशा में अभी भी पानी है। डीएम ने बाढ़ प्रभावित स्थलों का वीडियो ग्राफी अच्छी तरह से करवा लेने का निर्देश दिया।बैठक में एडीएम विभूति रंजन चौधरी, उप निदेशक जन संपर्क नागेंद्र कुमार गुप्ता, सदर एसडीओ राकेश कुमार गुप्ता, डीसीएलआर सदर सादुल हसन आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...