जयंती:साहित्यकार राजकमल की जयंती मनाई गई

दरभंगाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

| विश्वविद्यालय मैथिली विभाग में सोमवार को साहित्यकार राजकमल जयंती मनाई गई । इस अवसर पर पटना विश्वविद्यालय के पूर्व मैथिली विभागाध्यक्ष प्रो सत्यनारायण मेहता ने कहा कि राजकमल चौधरी अपने जीवन के अल्प अवधि में साहित्य के क्षेत्र में इतने काम कर गए जो दशक में भी नहीं किया जा सकता है।वे मैथिली में कथा, उपन्यास एवं कविता लिख कर मैथिली साहित्य को एक विस्तृत फलक प्रदान किया। प्रो दमन कुमार झा ने राजकमल के लेखन एवं उनके शिल्प की चर्चा की, जो मैथिली साहित्य के लिए बिल्कुल नई थी। प्रो अशोक कुमार मेहता ने राजकमल चौधरी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व की चर्चा की। विभागाध्यक्ष प्रो रमेश झा ने कहा कि राजकमल चौधरी की कई कहानियां मैथिली साहित्य में मील का पत्थर साबित हुआ है। मानविकी संकायाध्यक्ष प्रो. रमण झा ने कहा कि राजकमल चौधरी का पूरा नाम मणींद्र नारायण चौधरी था।

खबरें और भी हैं...