पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्राइवेट क्लीनिक:झाेला छाप डाॅक्टर ने किया ऑपरेशन हालत बिगड़ने पर कर दिया रेफर, माैत

गौनाहा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गौनाहा थाना क्षेत्र के मौजे माधोपुर गांव के एक प्राइवेट क्लीनिक की घटना

गौनाहा थाना क्षेत्र के मौजे माधोपुर गांव में इलाज के दौरान 4 वर्षीय बच्चे की मौत मंगलवार की रात्री में हो गई। मृत बच्चे की पहचान माधोपुर पंचायत के पकड़ी विशौली गांव निवासी काजी मोहम्मद के इकलौते पुत्र 4 वर्षीय मोहम्मद मनीर के रूप में की गई हैं। घटना के संबंध में बताया गया कि मृत लड़के की मां हुस्नआरा खातून पकड़ी विशौली गांव के एक प्राइवेट क्लीनिक में अपने बच्चे के घाव दिखाने के लिए ले गई थी।

बच्चे के कमर के ऊपर घाव था। डॉ. पीके मित्रा ने बच्चे के घाव का ऑपरेशन कर दिया। ऑपरेशन के दरम्यान बच्चा बेहोश हो गया। जब बच्चा को होश में आया तो उसको लगातार खांसी होने लगी। चिकित्सक ने एक प्राइवेट चिकित्सक के यहां नरकटियागंज रेफर कर दिया।

जहां डॉक्टर ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद लोगों ने प्राइवेट डॉक्टर क्लीनिक पर हंगामा कर दिया। देर रात पुलिस ने सेमरा थाना निवासी प्राइवेट क्लीनिक के कंपाउंडर कमल सरकार को अपने हिरासत में ले लिया है। परंतु झोलाछाप डॉक्टर भागने में सफल रहा।

बच्चे की मां ने कहा- मैं गरीब हूं, मेरे पति काजी मोहम्मद विक्षिप्त हैं, प्राथमिकी नहीं करा सकूंगी

मृतक के परिजन व मां-बाप तथा उसके समर्थक थाना पहुंचकर शव का पोस्टमाॅर्टम हेतु बेतिया भेजने को तैयार नहीं थे। पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। इधर, थानाध्यक्ष राजीव नंदन सिन्हा ने बताया कि इस मामले में के चिकित्सक के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की जाएगी। वैसे तो ग्रामीणों के पहल से झोलाछाप डॉक्टर एवं मृतक के परिजनों के बीच आपसी समझौता कर लिया गया है। मृत बच्चे की मां हुस्नआरा खातून ने बताया कि मैं गरीब व असहाय महिला हूं। मेरा पति काजी मोहम्मद दिमागी रूप से विक्षिप्त है। मैं प्राथमिकी दर्ज नहीं करा सकूंगी।

खबरें और भी हैं...