पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बांध टूटा ताे जलमग्न हो जाएंगे पांच गांव:पिपरा से बजड़ा के बीच 6 किमी में त्रिवेणी कैनाल में हैं 2 होल व 16 से अधिक रेनकट

गौनाहा16 दिन पहलेलेखक: कृष्णकांत मिश्र
  • कॉपी लिंक
  • बजड़ा, बैरिया, पड़रौन, कुकुरा एवं मनियारी की 6000 से अधिक आबादी होगी प्रभावित; चार साल में नहीं हुई मरम्मत, सीओ को पता ही नहीं कहां है होल

गौनाहा प्रखंड के पिपरा एवं बजड़ा के बीच त्रिवेणी कैनाल के उतरी बांध में करीब 6 किलोमीटर के बीच दो होल व 16 से अधिक रेनकट हो चुका है। होल से जो सरेही पानी नहर में गिर रहा है। यह होल दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है और अब वहां बच्चे मछली मार रहे है। कई जगहों पर बांध जर्जर हो चुका है। अगर शीघ्र मरम्मत नहीं की गई तो पानी के दबाव से बाध टूट जाएगा और इसकी वजह से त्रिवेणी कैनाल के इस पार के पांच गांव जलमग्न हो जाएंगे। ग्रामीणों ने बताया कि 2017 में आई प्रलयंकारी बाढ़ की वजह से त्रिवेणी कैनाल का तटबंध कई जगहों पर ध्वस्त हो चुका था।

उस समय करीब 20 से 30 किलोमीटर तक नहर के बांध की मरम्मत हुई। लेकिन उसके बाद उपर ध्यान नहीं दिया गया। बजड़ा निवासी प्रह्लाद यादव ने बताया कि बांध की मरम्मत का कार्य नहीं हुआ तो कई गांव की हजारों की आबादी बाढ़ की पानी की चपेट में आकर डूब जाएगी। 4 साल से बांध पर कोई भी एंटी एरोजन व मरम्मत कार्य नहीं हुआ है।

मनियारी गांव के पास मनियारी नदी कर रही कटाव, खतरा

बजड़ा के मुखिया जयप्रकाश महतो ने बताया कि अगर बारिश, बाढ़ व सरेही पानी की वजह से नहर का बांध टूटता है तो पांच गांव बजड़ा, बैरिया, पड़रौन, कुकुरा एवं मनियारी प्रभावित होगा। जहां की करीब 6 हजार से अधिक आबादी बाढ़ से प्रभावित हो जाएगी। मनियारी के पास मनियारी नदी भी वहां कटाव कर रही है।

विभाग को अवगत कराया जाएगा

गौनाहा सीओ अमित कुमार ने बताया कि नहर के बांध में होल हुआ है, इसकी जानकारी मुझे नहीं है। जांच कराई जा रही है। जांच रिपोर्ट मिलते ही नहर विभाग को पत्र लिखकर होल व रेनकट से अवगत कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...