मधुबनी में वैक्सीनेशन केंद्र पर हंगामा:वैक्सीन लेने वालों की भीड़ बढ़ी तो सेंटर पर हुआ हंगामा, मैनेजर बनाते रहे वीडियो, बेहोश होकर गिरा कर्मी

मधुबनी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मधुबनी के घोघरडीहा PHC वैक्सीनेशन सेंटर पर हंगामा करते लोग। - Dainik Bhaskar
मधुबनी के घोघरडीहा PHC वैक्सीनेशन सेंटर पर हंगामा करते लोग।

मधुबनी में वैक्सीनेशन के लिए लोगों की भीड़ जुट रही है, लेकिन सेंटरों पर व्याप्त कुव्यवस्था से लोग परेशान हैं। जिले के घोघरडीहा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में गुरुवार को ऐसा ही नजारा देखने को मिला। वैक्सीनेशन के लिए आए लोगों ने केंद्र पर व्याप्त अव्यवस्था को लेकर हंगामा कर दिया। लोगों का आरोप था कि यहां वैक्सीन लगाने की कोई प्रक्रिया निर्धारित नहीं है। न ही आने वालों के लिए बैठकर इंतजार करने की कोई व्यवस्था है। इसी बीच केंद्र पर ही लोगों की भीड़ से एक कर्मी बेहोश होकर गिर गया। उसे तत्काल केंद्र के ही के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कर इलाज कराया गया।

स्वास्थ्य प्रबंधक पर हंगामा रोकने की बजाए वीडियो बनाने का आरोप

आक्रोशित लोगों ने घोघरडीहा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के स्वास्थ्य प्रबंधक जयनंदन कुमार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि हंगामे के दौरान लोगों को समझाने-बुझाने की बजाए जयनंदन कुमार अपने लोगों का वीडियो बनाते रहे। इस घटना का भी वीडियो बाहर में मौजूद लोगों ने बना लिया। इसमें जयनंदन कुमार गेट के अंदर से हंगामे का वीडियो बनाने दिख रहे हैं। हालांकि हंगामा की सूचना पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने समझा-बुझाकर उसे शांत करा दिया।

सेंटर पर हंगामे के दौरान अंदर से वीडियो बनाते स्वास्थ्य प्रबंधक।
सेंटर पर हंगामे के दौरान अंदर से वीडियो बनाते स्वास्थ्य प्रबंधक।

वैक्सीनेशन कर्मी की हालत स्थिर, चल रहा इलाज

केंद्र पर अत्यधिक भीड़ और लोगों के हंगामे की वजह से वैक्सीनेशन कर्मी- 2 राकेश रौशन ड्यूटी के दौरान मूर्छित होकर गिर गए। इसके बाद आनन-फानन में उन्हें इसी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया। फिलहाल डॉक्टर उनका इलाज कर रहे हैं। राकेश रौशन की हालत स्थिर बताई गई है।

बेहोश होकर गिरे वैक्सीनेशन कर्मी का चल रहा इलाज।
बेहोश होकर गिरे वैक्सीनेशन कर्मी का चल रहा इलाज।

211 नए संक्रमित मिले, एक्टिव केस 1842

जिले में पिछले 24 घंटे में 211 संक्रमित पाए गए हैं। कुल एक्टिव संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1842 हो गई है। 37 कोरोना संक्रमित स्वस्थ हुए। 119 एक्टिव कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। वहीं 108 संक्रमित अभी वर्तमान में जिले के विभिन्न आइसोलेशन सेंटर में भर्ती हैं। जिले में 1115 बेड की क्षमता है, जिसमें 1065 मूविंग स्टेज में है। वहीं दोनों डोज लेने के बाद जिले में संक्रमित होने वालों की संख्या ना के बराबर है।

खबरें और भी हैं...