पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:गोहा चौक पर फरवरी 2020 में ही तोड़ा गया पुराने पुल को 16 महीने बाद भी नए सड़क पुल का 5 फीसदी ही काम हुआ

हसनपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोहा चौक पर सड़क पुल निर्माण स्थल की स्थिति। - Dainik Bhaskar
गोहा चौक पर सड़क पुल निर्माण स्थल की स्थिति।
  • जर्जर डायवर्सन से होकर वाहनों का आवागमन है जारी, लोगों को दुर्घटना की बनी रहती है आशंका, जल्द निर्माण की मांग की

क्षेत्र के तीन प्रखंडों हसनपुर, बिथान व गढ़पुरा को जोड़ने वाले स्थल गोहा चौक पर नए सड़क पुल निर्माण के लिए पिछले साल फरवरी में ही पुराने पुल को तोड़ दिया गया। ताकि नए पुल का निर्माण हो सके। लेकिन विभागीय उदासीनता व संवेदक की मनमानी से पुल निर्माण कार्य लेट से शुरू किया गया। इसका परिणाम है कि 16 महीने बाद भी नए सड़क पुल निर्माण का केवल 5 फीसदी काम ही पूरा हुआ है। नए पुल निर्माण कार्य पूरा नहीं होने के कारण वर्तमान समय में जर्जर डायवर्सन के सहारे वाहनों की आवाजाही हो रही है। इस दौरान दुर्घटना की हमेशा आशंका बनी रहती है। कब कोई वाहन जर्जर डायवर्सन से असंतुलित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो जाए, इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है। बताया जाता है कि गोहा चौक से होकर गुजरने वाली मृत बागमती नदी में अंग्रेज जमाने में ही सड़क पुल का निर्माण किया गया था।  पुल की स्थिति जर्जर होने पर उसे तोड़ दिया गया। साथ ही आवागमन बहाल करने के लिए करीब 20 साल पहले लोहा स्क्रू पाइप पुल का निर्माण किया गया। बढ़ते समय में इस पुल की स्थिति भी जर्जर हो गई। इस कारण विभागीय तौर पर पिछले साल स्क्रू पाइप पुल को भी तोड़ दिया गया। और आवागमन बहाल रखने के लिए डायवर्सन का निर्माण कर दिया गया। लेकिन गुणवत्तापूर्ण निर्माण नहीं होने के कारण डायवर्सन की स्थिति भी जर्जर हो गई। क्षेत्र के लोगों का कहना है कि पुराने पुल को तोड़े जाने के बाद यदि समय से नए पुल का निर्माण शुरू हो जाता, तो अब तक पुल निर्माण कार्य पूरा हो गया होता। साथ ही आवागमन भी शुरू हो जाता। विभागीय उदासीनता व संवेदक की मनमानी का ही फल है कि नए पुल का निर्माण कार्य अब तक धीमी गति की तरह है। क्षेत्र के लोगों की मांग है कि विभागीय पदाधिकारी इस समस्या की ओर पहल करें, ताकि पुल निर्माण कार्य में तेजी आ सके। और जल्द ही क्षेत्र के लोगों को नए पुल का लाभ मिल सके।

खबरें और भी हैं...