परेशानी:लोगों के घरों व बथान में भी जलजमाव, बढ़ी परेशानी

कल्याणपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मिर्जापुर गांव में जमा बरसात का पानी। - Dainik Bhaskar
मिर्जापुर गांव में जमा बरसात का पानी।
  • मिर्जापुर के कठेला चौर में किसानों को सता रही खेती नहीं होने की चिंता, बीमारी का भी सता रहा डर

प्रखंड क्षेत्र के कल्याणपुर पंचायत के वार्ड संख्या 9 अंतर्गत मिर्जापुर गांव के कठेला चौर में बारिश के पानी से जलजमाव की स्थिति के कारण लोगों के घरों एवं बथान में जलजमाव की स्थिति बनी हुई है। विगत 4 महीनों से चक्रवाती तूफान एवं गुलाब तूफान के दौरान हुई वर्षा की पानी से जलजमाव के कारण कल्याणपुर प्रखंड कार्यालय के समीप जलजमाव की स्थिति बनी हुई है। वहीं मिर्जापुर गांव के स्थानीय ग्रामीण राजेंद्र राय ,सुरेश दास, दिनेश राय, अनिरुद्ध दास आदि ने बताया कि समस्तीपुर से दरभंगा मुख्य पथ के किनारे होने के कारण आवास बनाने के लिए ऊंचे मूल्य पर जमीन लेकर घर बनाकर रहना अब जलजमाव के कारण मुश्किल बनी हुई है। स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि घर के आगे पीछे जलजमाव होने के कारण पैरों में पानी लगने से पैर खराब होने लगी है। नई बीमारी उत्पन्न हो गई है। दूसरी ओर छोटे-छोटे बच्चों को लेकर सांप ,कीड़ा एवं महामारी का डर सता रही है। वहीं स्थानीय लोगों राजेंद्र राय ने बताया कि मधुबन, जखरा, कल्याणपुर थाना के समीप छोटी-छोटी पुलिया को नाहर में बंद कर देने के कारण सही से जल निकासी नहीं होने से स्थानीय किसानों का फसल पर तो ग्रहण लग ही गया।
किसानाें के सामने संकट | 2 वर्षों से कोरोना महामारी को लेकर किसान अभी मार झेल ही रहे हैं। अब अगर यह जल निकासी नहीं होती है तो रवि की फसल नहीं होने से किसानों की माली स्थिति बद से बतर हो जायेगी। इसके लिए अब तक स्थानीय प्रशासन ने कोई ध्यान देना उचित नहीं समझ रही है । कई बार डीएम एवं सदर एसडीओ ने समीक्षात्मक बैठक में जलनिकासी की बात कहते है। लेकिन उसके बाद भी जल निकासी अब तक नहीं होने से किसानों का एक भी फसल नहीं हो पा रहा है। इसके किसानों का कहना है तेलहन, दलहन एवं आलू , खरीफ की फसल तो इस बार नहीं हुई । अब बची हुई है रवि फसल पर आस है। लेकिन वह भी स्थानीय प्रशासन पर ही निर्भर करती है की प्रशासन जलनिकासी करवा दे, तो किसान रबी फसल उगा लेंगे। लेकिन अगर जलनिकासी नही हुई तो रबी फसल की आस भी खत्म हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...