पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लगातार जांच:पोस्ट कोविड लोगों के घर-घर जाकर विभाग की टीम कर रही है जांच

केसरिया8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमण से उबरे लोगों का स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अर्चना कुमारी के नेतृत्व में डोर टू डोर जांच की जा रही है। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने बताया कि प्रखंड के विभिन्न गांव में लगातार जांच की जा रही है।

अब तक 14 गांव मे कोरोना से उबरे हुए लोगों की जांच की गई है। जिसमे पल्स, ब्लड शुगर समेत कई तरह की जांच की जा रही है। ब्लैक फंगस का मामला है की नही यह भी देखा जा रहा है। कुछ भी लक्षण पाए जाने पर तुरंत इलाज शुरू किया जायेगा।

उन्होंने बताया कि ब्लैक फंगस यानी म्यूकरमाइकोसिस ने कोरोना संक्रमितों के लिए खतरा पैदा कर रहा है। म्यूकरमाइकोसिस सबसे ज्यादा उन पर घातक साबित हो रहा है जो कि कोरोना संक्रमित हो चुके हैं और उन्हें डायबिटीज यानी मधुमेह है। ब्लैक फंगस ऐसे लोगों के फेफड़ों, आंखों और दिमाग पर असर डाल रहा है और यह उनकी जान पर भारी पड़ रहा है। इसके प्रभाव से लोगों की आंखों में रोशनी भी खत्म हो रही है। इससे शरीर के कई अंग बेहद प्रभावित हो सकते हैं।

खबरें और भी हैं...