अच्छी खबर:सोहरबा घाट में जलनिकासी के लिए नहर का निर्माण शुरू, 700 एकड़ में उगेगी फसल

कुशेश्वरस्थान5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाढ़ प्रभावित कुशेशवरस्थान प्रखंड में जलजमाव से मुक्ति के लिए सोहरबा घाट में जलनिकासी के लिए नहर निर्माण का कार्य जारी। - Dainik Bhaskar
बाढ़ प्रभावित कुशेशवरस्थान प्रखंड में जलजमाव से मुक्ति के लिए सोहरबा घाट में जलनिकासी के लिए नहर निर्माण का कार्य जारी।
  • बाढ़ प्रभावित कुशेश्वरस्थान के एक हजार से अधिक किसानों को हाेगा फायदा

बाढ़ प्रभावित कुशेश्वरस्थान प्रखंड क्षेत्र में जलजमाव से मुक्ति के लिए नहर का निर्माण शुरू कर दिया गया है। नहर का निर्माण सोहरबा घाट से शुरू किया गया है। यह नहर सोहरबा से हाेते हुए डुडियाहा, पकाही चौर होते हुए करेह नदी में मिला जाएगा। इसके बन जाने से प्रखंड की गोठानी, बरना, पकाही झझड़ा, चिगड़ी सिमराहा गांव के लगभग 10 हजार से अधिक किसानों को फायदा होगा। करीब 700 एकड़ में फसलें लहराने लगेंगे। किसानाें का आर्थिक विकास हाेगा। बताते चलें कि वर्षों से यहां के लोग बाढ़ एवं जलजमाव की समस्या से जूझ रहे हैं। विभिन्न चौरों में जलजमाव के कारण सैकडों एकड़ जमीन सालों भर बेकार पड़ी रहती है। जलजमाव वाले क्षेत्र में किसान कोई फसल नहीं लगा पाते हैं। जिससे यहां के किसानों की आर्थिक स्थिति दिन प्रति दिन कमजोर होती जा रही है। पिछले वर्ष बाढ़ के समय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कुशेश्वरस्थान का दौरा कर बाढ़ की स्थिति से रू-ब-रू हुए थे। अपने कुशेश्वरस्थान प्रवास के दौरान आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने इस क्षेत्र को बाढ़ एवं जलजमाव की समस्या से मुक्ति दिलाने की घोषणा की थी।

मुख्यमंत्री कुमार ने अपने किए गए वादे को मूर्त रूप देने के लिए 16 दिसंबर को पुनः कुशेश्वरस्थान आकर जलजमाव की समस्या को दूर करने के लिए नहर के उड़ाही करने एवं नाले के निर्माण कार्य प्रारम्भ करने का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री की उपस्थिति में उच्च विद्यालय कुशेश्वरस्थान स्थान में कार्य का शुभारंभ किया गया। हालांकि तीन दिनों तक नाला निर्माण के काम होने के बाद अपरिहार्य कारणों से अब तक काम बंद है। जिससे लोगों में मायूसी देखी जा रही है। इधर शुक्रवार से सोहरबा घाट में नहर निर्माण के कार्य के प्रारंभ होने से लोगों में जलजमाव की समस्या से निजात मिलने की आस जगी है।

सीएम एवं जल संसाधन मंत्री काे दिया साधुवाद
नहर के निर्माण से कुबोटन के लालन नायक, लड़नी के बच्चा बाबू यादव,पकाही के राजीव सिंह, भूपन पासवान सहित कई किसानों ने प्रसन्नता वयक्त करते हुए इसके लिए मुख्यमंत्री एवं जलसंसाधन मंत्री को साधुवाद दिया है। विधायक अमन भूषण हजारी ने बताया कि इस जलजमाव के कारण क्षेत्र में सैकड़ों एकड़ जमीन बेकार पड़ी थी। नहर बन जाने से समय पर पानी की निकासी हो जाएगी और किसान समय पर फैसल लगा पाएंगे।

खबरें और भी हैं...