गोताखोरों ने दो को बचाया:डुबकी लगाने गई 3 बहनों में 1 की मौत

मधवापुर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भाई दूज के मौके पर अनादिकाल से तीन नदी के संगम तट अखरहरघाट यमुनी में डुबकी लगाने की प्रथा है। स्नान के बाद श्रद्धालु भक्त संगम तट पर स्थित महादेव मंदिर में स्थापित शिवलिंग पर जलाभिषेक कर पूजा-अर्चना कर पुण्य के भागी बनते हैं। इसी क्रम में शनिवार की सुबह साहरघाट थाना क्षेत्र के साहर उत्तरी पंचायत अंतर्गत पनिसलवा गांव की तीन चचेरी बहन संगम में डुबकी लगाने गई थी लेकिन तैरना नहीं आने के कारण राम एकबाल यादव की बेटी सविता कुमारी (18) की नदी में डूबकर मौत हो गई।

जबकि उसकी दो अन्य चचेरी बहन इंद्रजीत यादव की बेटी रुब्बी कुमारी अाैर इसी पंचायत के केरवा गांव निवासी नंटून यादव की पुत्री मनीषा कुमारी को मौजूद भीड़ में शामिल स्थानीय गोताखोरों ने अथक प्रयास कर बचा लिया। घटना सुबह 5 बजे की बताई जा रही है। संवाद प्रेषण तक मृतका का शव पुलिस को बरामद नहीं हो सका है।

स्थानीय गोताखोरों द्वारा संभावित जगहों पर काफी खोजबीन की जा रही है लेकिन कहीं कोई सुराग नहीं मिल रहा है। थक-हारकर सीओ आरके पासवान अाैर एसएचओ गया सिंह ने अनुमंडल पदाधिकारी से एसडीआरएफ की टीम उपलब्ध कराने का आग्रह किया है। संवाद प्रेषण तक टीम नहीं पहुंची थी।

खबरें और भी हैं...