महापर्व छठ कि तैयारी:घाटों की सफाई में लगाए गए हैं 10 कर्मी, दो दिन में पूरा करने का दावा

मधेपुरा21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छठ घाट की सफाई करते नप की सफाई कर्मी व अन्य। - Dainik Bhaskar
छठ घाट की सफाई करते नप की सफाई कर्मी व अन्य।
  • जिला मुख्यालय में 25 स्थानों पर चिह्नित किया गया है छठ घाट

लोकआस्था के महापर्व छठ को लेकर तैयारी जोर-शोर से चल रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में छठ को लेकर लोग अपने स्तर से घाटों की सफाई कर रहे हैं। जबकि शहरी क्षेत्र में नगर परिषद को सफाई करवाना है। चौंकाने वाली बात यह है कि घाटों पर जिस कदर गंदगी पसरी हुई है, उसे पूरी तरह से साफ करना अगले तीन दिन में मुश्किल दिख रहा है। बताया गया कि शहर की सफाई के लिए अन्य दिनों में 150 सफाई कर्मियों को लगाया जाता है। वहीं छठ के समय नगर परिषद के द्वारा सफाई एजेंसी को सफाई कर्मियों की संख्या बढ़ाने का आदेश दिया गया था। ताकि जिला मुख्यालय के चिह्नित 25 छठ घाटों की मुकम्मल सफाई हो जाए। लेकिन एजेंसी के द्वारा केवल 10 सफाई कर्मी बढ़ाया गया है। ऐसे में सफाई कर्मियों के कमी के कारण छठ घाटों की समुचित सफाई एक साथ नहीं को पा रही है। दूसरी ओर, सफाई एजेंसी के सुपरवाइजर मो. अनवर ने बताया कि शहर के सभी जगहों पर दो दिन से अंदर छठ घाटों की सफाई कर दी जाएगी। उनका मानना है कि अधिकांश जगहों की सफाई कर ली गयी है। वहीं छठ घाटों पर श्रद्धालुओं को सबसे बड़ी परेशानी व चिंता पानी को लेकर भी है। कई जगहों पर पानी कम हो गया है तो कई जगहों पर बाढ़ के दौरान घाटों पर कटाव बढ़ा है। जबकि कई जगहों पर पानी भी अधिक है। इन सब चीजों से मिलाजुलाकर करीब सभी घाटों पर कुछ न कुछ समस्या बनी हुई है।

6 घाटों पर दो-दो हजार श्रद्धालु के आने की संभावना
शहरी क्षेत्र में कई ऐसे घाट हैं जहां गंदगी व कचरे का अंबार लगा हुआ है। छठ घाट तक जाने वाली सड़क की स्थिति भी खराब है। ऐसे में श्रद्धालुओं व छठ व्रती को छठ पूजा के दौरान काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं शहर में नगर परिषद के द्वारा सभी घाटों की सफाई की जानी है। बता दें कि नगर परिषद के द्वारा कुल 25 घाटों की सूची तैयार की गयी है। जिसमें 6 घाट ऐसे हैं जहां दो हजार से अधिक श्रद्धालुओं के आने की संभावना जतायी गयी है। वहीं 9 ऐसे घाट हैं, जहां 500 से अधिक एवं दो हजार से कम श्रद्धालुओं के आने की संभावना है। इसके अलावा 9 ऐसे घाट हैं, जहां 500 से कम श्रद्धालुओं के आने की संभावना जताई जा रही है।

खबरें और भी हैं...