विवाद / 12 कट्‌ठा विवादित जमीन पर बन रहा था घर, पहुंचकर भी पुलिस ने नहीं की कार्रवाई, आठ घंटे बनाया बंधक

12 Katha was being built on the disputed land, the police did not take action even after reaching it, made hostage for eight hours
X
12 Katha was being built on the disputed land, the police did not take action even after reaching it, made hostage for eight hours

  • विधायक-एसडीपीओ के आश्वासन पर मुक्त हुए अधिकारी व कर्मी

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:53 AM IST

मधेपुरा. पिपरा प्रखंड अंतर्गत रामनगर पंचायत स्थित कोसलीपट्टी वार्ड 19 में विवादित जमीन पर घर बनाने की सूचना पर शुक्रवार की रात पहुंची पिपरा पुलिस को लोगों ने करीब 8 घंटे तक बंधक बनाए रखा। जिसे शनिवार को स्थानीय विधायक यदुवंश कुमार यादव एवं सदर एसडीपीओ विद्यासागर के समझाने-बुझाने पर मुक्त कराया जा सका। मामले को लेकर बताया जाता है कि रामनगर वार्ड 19 कौशलीपट्‌टी में शुक्रवार की देर रात करीब 3 बजे एक पक्ष द्वारा विवादित जमीन पर जबरन घर बनाया जा रहा था। दूसरे पक्ष के लोगों ने पिपरा पुलिस को सुचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस द्वारा कार्य पर रोक नहीं लगाए जाने से लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और पुलिस को ही बंधक बना लिया। 
पंचायत में होगा मामले का निस्तारण
एक पक्ष के लोगों की मांग की थी कि बंधक बनाए गए पुलिस अधिकारियों एवं जवानों को तब तक जाने नहीं दिया जाएगा, जब तक घर नहीं हटाया जाएगा। लोगों ने रोड को दोनों ओर से बांस-बल्ले के सहारे जाम कर दिया। वहीं महिलाएं सड़क पर ही बेंच लगा कर बैठक गइ एवं सड़क जाम किया। सूचना पाकर सुबह 8:00 बजे पहुंचे थाना अध्यक्ष संतोष कुमार निराला व अंचलाधिकारी राजीव कुमार सिन्हा, पिपरा प्रमुख प्रतिनिधि, मुखिया पति सहित क्षेत्र के प्रबुद्धजन घटना स्थल पर पहुंचे। लेकिन आक्रोशित लोग अपनी मांग पर डटे रहे।

जहां बाद में स्थानीय विधायक यदुवंश कुमार यादव एवं सदर एसडीपीओ विद्यासागर पहुंचे। जहां दोनों पक्ष को एक समय लेकर पंचायत के माध्यम से मामले का निराकरण करने का आश्वासन दिया। इसके बाद आक्रोशित लोग शांत हुए एवं सभी पुलिस कर्मियों को वहां से जाने दिया। स्थानीय विधायक यदुवंश कुमार यादव ने दोनों पक्षों को पंचायत के माध्यम से गांव में ही जमीन विवाद के मामले को सुलझाने का आश्वासन दिया। इस बाबत सदर एसडीपीओ विद्यासागर ने बंधक बनाने वाली बात से इनकार किया और कहा कि दोनों पक्षों के बीच मामले की गंभीरता को देखते हुए कोई पुलिस कैंप कर रही थी।
अंचलाधिकारी के आदेश के बाद भी शुरू किया घर बनाना
जानकारी के अनुसार बिजेंद्र यादव एवं प्रदीप यादव के बीच 12 कट्ठा जमीन को लेकर करीब एक वर्ष से विवाद चल रहा है। सीओ द्वारा दोनों पक्ष को नोटिस करके लाकडाउन तक कार्य नहीं करने का आदेश दिया गया था। शुक्रवार की रात करीब 2 बजे प्रदीप यादव एवं अशोक कुमार द्वारा विवादित जमीन पर जबरन घर बनाया जा रहा था। इसके विरोध में बिजेन्द्र कुमार ने पिपरा पुलिस को सूचना देकर कार्य रोकने का अनुरोध किया। सूचना पर रात्रि गस्ती कर रहे एसआई महेश्वर साह, सब इंस्पेक्टर अनंत कुमार सहित एक दर्जन पुलिस कर्मी विवादित स्थल पर पहुंचे। लेकिन घर के निर्माण कार्य पर रोक नहीं लगाए। जिसके बाद एक पक्ष के लोग सभी पुलिस कर्मियों को बंधक बनाकर घर को उजाड़ने की मांग करने लगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना