मनमानी / 3 लाख मास्क तैयार, डबल लेयर का मात्र 15 रु में देने के बाद भी नहीं मिल रहे खरीदार

3 lakh masks ready, buyers not getting even after paying double layer for only Rs. 15
X
3 lakh masks ready, buyers not getting even after paying double layer for only Rs. 15

  • जिलाधिकारी के आदेश के बाद भी मुखिया जीविका से नहीं खरीद रहे मास्क

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

मधेपुरा. कोराेना संकट के दौर में जब मास्क की किल्लत आसमान छू रही थी। तब जान जोखिम में डालकर जीविका दीदी कोराेना वॉरियर्स के रूप में मास्क बनाने की चुनौती स्वीकार करते हुए बड़े पैमाने पर इसकी कमी को पूरा किया। अब जब पंचायती राज विभाग ने सभी पंचायत को जीविका से निर्मित मास्क लेने का निर्देश जारी किया तो मुखिया विभाग के निर्देश को दरकिनार करते हुए दूसरे स्थानों से मास्क खरीद कर बंटवा रहे हैं।

ऐसे में जीविका दीदी के पास स्टॉक में 3 लाख मास्क बनकर तैयार होने के बावजूद ग्राहकों का इंतजार  है। स्थिति यह है कि जीविका समूह मास्क नहीं बिकता देख निर्माण कार्य को धीमा कर दिया है। जीविका के रोजगार प्रबंधक सुजीत कुमार ने बताया कि सरकार के निर्देश के बाद हमलोगों ने इस कार्य को बड़े पैमाने पर शुरू कर दिया। इसके लिए कई जीविका समूह के अलावा प्रखंड स्तर पर केंद्र खोला गया ताकि मास्क की कमी को पूरा किया जा सके।

लेकिन खरीदार नहीं मिलने से जीविका दीदी के माथे पर चिंता की लकीर खींच गई हैं। विदित हो कि पंचायती राज विभाग ने सभी मुखिया को पंचम वित्त योजना के तहत प्रत्येक परिवार को चार मास्क तथा साबुन देने का निर्देश दिया था। विभाग ने अपने आदेश में स्पष्ट कर दिया था कि मास्क हर हाल में जीविका से खरीदना है।

वहां नहीं मिलने की स्थिति में खादी ग्रामोद्योग से क्रय करना है। विभाग के पत्र के आलोक में डीएम ने भी सभी बीडीओ को पत्र जारी किया था। लेकिन स्थिति यह है कि अभी तक मात्र 30 हजार मास्क का आर्डर जीविका को मिला है। वो भी जिले के 170 पंचायत में केवल 7 पंचायत से ही।

जिले में 3.84 लाख परिवार में होना है 15.40 लाख मास्क का वितरण

डीपीएम अनोज कुमार पोद्दार ने बताया कि जिले में 3 लाख 84 हजार 976 परिवार रहते हैं। इस आधार पर 15.40 लाख मास्क का वितरण होना है। इस आधार पर हम लोगों ने अब तक लगभग 3 लाख मास्क तैयार कर लिए हैं। लेकिन अभी तक मुखिया के द्वारा ऑर्डर नहीं आया है।

उन्होंने बताया कि अभी तक मधेपुरा के 17 पंचायत में केवल महेसुवा व मानिकपुर से दो हजार, सिंहेश्वर के 13 पंचायत के केवल भवानीपुर से चार हजार, पुरैनी के 9 पंचायत में केवल पुरैनी पंचायत से दो हजार, उदाकिशुनगंज के 16 पंचायत में केवल के जौतौली से पांच हजार, ग्वालपाड़ा के 12 पंचायत में केवल झिटकिया से चार हजार तथा चौसा के 13 पंचायत में केवल फुलौत पूर्वी व पश्चिमी से दस हजार का ऑर्डर मिला है। जबकि कुमारखंड, आलमनगर, गम्हरिया, बिहारीगंज, घैलाढ़, मुरलीगंज व शंकरपुर प्रखंडों से एक भी ऑर्डर प्राप्त नहीं हुआ है।   

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना