पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बीएनएमयू:नामांकन के एक साल बाद भी 55 हजार छात्रों का नहीं हुआ पंजीयन

मधेपुरा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विश्वविद्यालय प्रशासन तय नहीं कर पा रहा है कि रजिस्ट्रेशन ऑफलाइन करें या अॉनलाइन

बीएन मंडल विश्वविद्यालय में स्नातक पार्ट वन में नामांकित छात्र-छात्राओं का अब तक रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है। विश्वविद्यालय प्रशासन यह तय नहीं कर पा रहा है कि छात्रों का रजिस्ट्रेशन ऑफलाइन करें या ऑनलाइन। यूएमआईएस और विवि के बीच चल रहे खींचतान में छात्रों का समय बर्बाद हाे रहा है। विदित हो कि पिछले साल यूएमआईएस प्रकरण के कारण ही स्नातक पार्ट वन सत्र 2020-21 में ऑफलाइन आवेदन लेकर नामांकन लिया गया था। ऑफलाइन आवेदन लेने पर विभिन्न छात्र संगठनों ने कई दिनों तक विवि में आंदोलन भी किया था। हालांकि विवि की ओर से यह कहा गया कि यूएमआईएस का मामला कोर्ट में है, इसके कारण नामांकन की प्रक्रिया में देर हो रही है। केवल सत्र 2020-21 में ऑफलाइन के माध्यम से आवेदन लेकर नामांकन लिया जाएगा। बाद में जैसे ही यूएमआईएस का विवाद शांत होगा, सभी ऑफलाइन डाटा को ऑनलाइन कर लिया जाएगा। लेकिन एक वर्ष बाद भी स्नातक पार्ट- वन के डाटा को अब तक ऑनलाइन नहीं किया गया है। इसके साथ ही पंजीयन पर भी अब तक कोई अंतिम निर्णय नहीं हो पाया है।

नामांकन के लिए छात्र मार्च से कर रहे हैं इंतजार
बीएनएमयू क्षेत्राधीन तीनों जिले के 27 डिग्री कॉलेजों में स्नातक पार्ट वन (सत्र 2020-21) में 55 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं नामांकित हैं। इन छात्रों की पिछले साल सितंबर-अक्टूबर में नामांकन की प्रक्रिया पूरी हुई। इसके बाद से अब तक पंजीयन की प्रक्रिया अधर में लटकी हुई है। विवि प्रशासन के लचर रवैए के कारण छात्रों का सत्र विलंब हो रहा है। हाल में ही कुछ छात्र संगठनों ने कुलपति को ज्ञापन सौंपकर इन छात्रों के पंजीयन की प्रक्रिया अविलंब पूरी करने की मांग की थी। बीएनएमयू प्रशासन के लचर रवैया के कारण स्नातक पार्ट वन सत्र 2021-22 में नामांकन की प्रक्रिया शुरू होने में देरी हो रही है। इंटर उत्तीर्ण छात्र-छात्राएं मार्च माह से ही नामांकन के इंतजार में है। बीएनएमयू को छोड़ कर बिहार के लगभग सभी विश्वविद्यालयों में नामांकन की प्रक्रिया चल रही है।

पंजीयन जल्द ही शुरू किया जाएगा
स्नातक पार्ट वन सत्र- 2020-21 में नामांकित छात्र-छात्राओं की कुछ अंतरिक समस्या के कारण पंजीयन नहीं हो पाया है। समस्या को दूर कर जल्द पंजीयन शुरू करने की दिशा में विवि प्रशासन प्रयासरत है।
आरपी राजेश, परीक्षा नियंत्रक, बीएनएमयू

पीएचडी एडमिशन के लिए सीट बढ़ाने की मांग

मधेपुरा | बीएन मंडल विश्वविद्यालय के छात्र संघ सेंट्रल काउंसिल मेंबर माधव कुमार ने कुलपति डॉ. आरकेपी रमण को आवेदन देकर पीएटी-2020 में सीट वृद्धि की मांग की है। उन्होंने कहा कि राजनीति विज्ञान, हिंदी, वाणिज्य आदि विषयों में शिक्षकों के अनुपात में सीट कम दर्शायी गई है। उन्होंने कहा कि जिन शिक्षकों की परिक्ष्यमान अवधि पूरी हो चुकी है और उनकी सेवा संपुष्टि की प्रक्रिया अद्यतन जारी है और वैसे शिक्षक जो किसी कारणवश अब तक शोध निदेशक बनने की पात्रता संबंधी कागजात जमा नहीं कर सके हैं, उन्हें भी पीएटी-2020 के शोधार्थियों के शोध निदेशक बनाने पर विचार किया जाए।

खबरें और भी हैं...