पांव पसारने लगा कोरोना:जवाहर नवोदय विद्यालय में 210 छात्रों की जांच में 9 कोरोना संक्रमित, शहर में भी मिले 8 नए केस

मधेपुरा / सिंहेश्वर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आलमनगर बाजार में दुकानदारों को कोरोना गाइडलाइन पालन करने की हिदायत देते पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
आलमनगर बाजार में दुकानदारों को कोरोना गाइडलाइन पालन करने की हिदायत देते पदाधिकारी।
  • संक्रमण से बढ़ रहा दहशत, छात्रों को टीका लगाने गई टीम ने संदेह होने पर कराई छात्रों की जांच
  • जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर हो गई अब 52
  • प्रखंडों में बीडीओ और सीओ ने माइकिंग कर मास्क लगाने का दिया निर्देश

जिले में काेराेना संक्रमण का फैलाव तेजी से हो रहा है। इसका प्रसार अब जिला मुख्यालय के साथ-साथ प्रखंडों और स्कूलों में होने लगा है। शुक्रवार को शहरी क्षेत्र के जांच केंद्रों पर जहां आठ संक्रमित पाए गए, वहीं सिंहेश्वर के सुखासन स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में नौ छात्र संक्रमित पाए गए। जबकि आलमनगर में भी एक संक्रमित पाया गया। इस तरह से शुक्रवार तक इसकी संख्या बढ़कर 39 हो गई। जिला प्रशासन से जारी रिपोर्ट के अनुसार, अबतक 2321 लोगों की एंटिजन, 2338 लोगों आरटीपीसीआर और 50 लोगों की ट्रूनेट से जांच की गई। एक्टिव केस की संख्या 39 है। बताया गया कि शुक्रवार को जेएनवी में किशोर-किशोरियों को टीका लगाने के लिए टीम गई हुई थी। इस दौरान कुछ छात्रों का एंटीजन किट से कि रेंडमली कोविड जांच की गई, तो छात्र संक्रमित पाए गए। इसके बाद शाम तक में वहां के 210 छात्र-छात्राओं की एंटीजन किट से जांच की गई। इसमें 9 छात्र संक्रमित पाए गए। इसमें छह छात्र और तीन छात्राएं शामिल थीं। बताया गया कि देर शाम के बाद भी वहां पर जांच चल रही थी। सभी संक्रमितों के स्वायब को आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए मेडिकल कालेज भेजा गया है। बताया गया इस दौरान नवोदय विद्यालय में 200 छात्र-छात्राओं को कोवैक्सीन का डोज भी दिया गया। इस बाबत सीएचसी प्रभारी डाॅ. रवींद्र कुमार ने बताया की संक्रमित पाए गए छात्रों का सेंपल आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए मेडिकल काॅलेज भेजा गया है। तत्काल सभी 9 छात्रों को दवा की पूरी कीट उपलब्ध करा दी गई है। उन्हें होम आइसोलेशन में भेजा जा रहा है। जांच टीम में फार्मासिस्ट आतिफ रियाजी, टेक्नीशियन संतोष कुमार, रमेश नंदा, एएनएम उमा कुमारी, बबीता कुमारी, परमेश्वर तिवारी मौजूद थे।

260 लोगों के सैंपल मेडिकल कॉलेज भेजा
जिले में लगातार बढ़ रही कोरोना संक्रमित मरीजों के बीच शुक्रवार को 8 नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। जो कि पांच दिनों में सर्वाधिक है। सदर अस्पताल स्थित कोरोना जांच केंद्रा पर शुक्रवार को कुल 158 मरीजों की एंटीजन किट से जांच की गई। जबकि रेलवे स्टेशन स्थित कोराेना जांच केंद्र पर कुल 102 मरीजों की एंटीजन किट से जांच की गई। दाेनाें जांच केंद्राें पर हुए 260 मरीजों की जांच में 8 संक्रमित पाए गए। सभी 260 लोगों के सैंपल को आरटीपीसीआर जांच के मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। दूसरी आरे, शहर में भीड़ होने के बावजूद अब भी लोग मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं। शुक्रवार को भी बाजार में सैकड़ों लोगों को बिना मास्क के घूमते दिखा गया।

बिना मास्क अस्पताल में रोक
दूसरी ओर, सदर अस्पताल में शुक्रवार को अस्पताल का मुख्य द्वार बंद कर दिया गया। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए कहा गया है कि बिना मास्क के सदर अस्पताल में इंट्री पर रोक लगा दी गई है। अस्पताल प्रशासन ने आदेश दिया है कि जो कोई मास्क के बिना अस्पताल में प्रवेश करना चाहे, उसे प्रवेश नहीं दिया जाए। इसलिए मुख्य द्वार को बंद किया गया था। लेकिन मास्क लगाकर आए लोगों के लिए छोटे गेट से प्रवेश हो रहा था। हालांकि अब भी सदर अपताल में भी बिना मास्क के लोग घुस जा रहे हैं।

आलमनगर में भी मिला एक संक्रमित
आलमनगर| सीएचसी जांच केंद्र पर जांच के दौरान इटहरी पंचायत निवासी एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया गया। इस बाबत सीएचसी के बीसीएम दिलीप झा ने बताया कि शुक्रवार को 172 लोगों का एंटीजन टेस्ट किया गया। जिसमें एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया। आलमनगर में भी संक्रमित के पाए जाने के बाद बीडीओ मिनहाज अहमद, सीओ अभय कुमार सिन्हा के नेतृत्व में प्रखंड और अंचल कर्मियों ने थाना चौक, पोस्ट ऑफिस चौक, मुख्य बाजार, सब्जी मार्केट सहित अन्य बाजार एवं हाट में घूम-धूमकर दुकानदारों को सख्त हिदायत दी गई कि दुकान पर बिना मास्क के नहीं बैठें। ग्राहकों को भी मास्क पहनने के लिए जागरूक करने के साथ-साथ सोशल डिस्टेंस का पालन करने काे कहा गया।

बिना मास्क व ग्लब्स के ही लगाया जा रहा टीका

मुरलीगंज | कोविड-19 के तीसरे लहर से निपटने को लेकर सरकार लगातार प्रयासरत है। मुरलीगंज में कोरोना टीकाकरण केंद्र पर कोरोना प्रोटोकॉल को लेकर बड़ी लापरवाही देखी जा रही है। बीएल स्कूल में बिना मास्क के ही कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए शुक्रवार को किशोर-किशोरियों की भीड़ उमड़ रही है। गौरतलब हो कि मुरलीगंज प्रखंड क्षेत्र स्थित बीएल उच्च विद्यालय में छात्र छात्राओं को सोमवार से विद्यालय परिसर में कैंप लगाकर टीकाकरण करवाया जा रहा है। सुरक्षा को ताक पर रख कोविड सेंटर पर मास्क और सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाते हुए देखा गया। अधिकांश छात्राएं बिना मास्क के ही सेंटर पर पहुंच कर टीके लगवा रही थी। छात्राएं तो छात्राएं टीकाकरण कर रही कर्मियों ने भी मास्क और ग्लब्स नहीं पहना। कारण जानने के लिए पूछे जाने पर जहां कई छात्राओं ने बताया गया कि मास्क घर पर ही भूल गए तो वही टीकाकर्मियों ने बताया कि मास्क पहन कर बोलने में कठिनाई होती है, इसलिए मास्क खोल कर हटा लिया गया है।

खबरें और भी हैं...