रबी महाभियान:जीरो टिलेज विधि से खेती करने पर फायदा

मधेपुर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण, मधुबनी के द्वारा शनिवार को रबी महाभियान का आयोजन कृषि भवन मधेपुर में किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन सीओ पंकज कुमार सिंह, बीपीआरओ चंद्र देव प्रसाद, बीएओ शमीम अहमद अंसारी, बीसीओ गौरव कुमार अाैर ओमप्रकाश झा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

मौके पर आयोजित प्रखंड स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में किसानों को उन्नत खेती के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। वहीं उपादान वितरण कार्य का शुभारंभ किया गया। कृषि विशेषज्ञ महेश्वर ठाकुर ने बीज उपचार और जीरो टिलेज से गेहूं की बुआई के बारे में किसानों को जानकारी देते हुए कहा कि बुअाई के पहले बीज की अंकुरण क्षमता की जांच अवश्य कर लेनी चाहिए। यदि बीज उपचारित नहीं है तो बुअाई पूर्व बीज को फफूंदनाशी कार्बेन्डाजिम से उपचारित कर जीरो टिलेज मशीन से बुअाई करें।

वर्मी कंपाेस्ट उत्पादन तकनीक के बारे में किसानों को बताया वर्मी कंपाेस्ट उत्पादन तकनीक के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। कृषि विज्ञान केंद्र सुखैत के मृदा वैज्ञानिक डॉ. सर्वेश कुमार ने कहा कि कृषि भूमि की मिट्टी जांच अत्यंत अावश्यक है। इससे खेतों की उपजाऊ शक्ति का पता लगता है और उसके अनुसार खादों एवं उर्वरकों की मात्रा के उपयोग की सलाह दी जाती है। फसल बुअाई से एक महीने पहले किसानों को मिट्टी जांच करवाने का निर्देश उन्होंने दिया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में कृषि विशेषज्ञों द्वारा गेहूं, मसूर, चना, मटर, राई, तोरी, सरसों, गोभी तथा आलू की उन्नत खेती के बारे में किसानों को जानकारी दी गई। बीपीआरओ चंद्र देव प्रसाद ने जल जीवन हरियाली योजना पर प्रकाश डालते हुए किसानों को जल संरक्षण के उपायों के बारे में विस्तृत जानकारी दी

खबरें और भी हैं...