घर में ही अदा करें बकरीद की नमाज:मधेपुरा में DM व SP की नाइट पेट्रोलिंग; बाजार में घूम-घूम कर की अपील- कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ, भीड़-भाड़ से बचें और मास्क लगाएं

मधेपुरा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर के मस्जिद चौक पर लोगों से अपील करते DM और SP। - Dainik Bhaskar
शहर के मस्जिद चौक पर लोगों से अपील करते DM और SP।

मधेपुरा में बकरीद को लेकर की गई विधि-व्यवस्था की पड़ताल को लेकर मंगलवार की रात जिलाधिकारी श्याम बिहारी मीणा और एसपी योगेंद्र कुमार ने संयुक्त रूप से नाइट पेट्रोलिंग की। इस दौरान अधिकारियों ने शहर के तमाम इलाकों में घूम-घूमकर स्थिति का जायजा लिया और लोगों से शांति और सौहार्दपूर्ण वातावरण में पर्व को मनाने की अपील की। चौक-चौराहों पर रुक-रुककर DM श्याम बिहारी मीणा और SP योगेंद्र कुमार ने लोगों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की नसीहत भी दी। DM ने लोगों से अपील की कि बकरीद को लेकर सामूहिक कुर्बानी न दें। घर में बकरीद की विशेष नमाज अदा करें। भीड़-भाड़ से बचें और कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें।

एसपी बोले- ए भैया मास्क लगाओ, कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है

नाइट पेट्रोलिंग के दौरान जब पदाधिकारियों का अमला बाजार में घूम रहा था तो शहर के मस्जिद चौक पर कुछ दुकानें खुली हुई थी और कुछ लोग भी सड़क पर टहल रहे थे। इसके बाद ऐसी ने सभी लोगों से मास्क पहनकर ही घर से बाहर निकलने को कहा। उसी दौरान SP कहने लगे कि रिक्शा वाला मास्क पहने हुए है, आपलोग भी मास्क लगाकर रहें। कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। मौके पर SP ने कहा कि शांति व्यस्था बनाए रखने के लिए मजिस्ट्रेट और पुलिस बल तैनात किए गए हैं।

बकरीद को लेकर तैयारी की गई है मुकम्मल

इससे पूर्व DM और SP ने संयुक्त रूप से बकरीद को लेकर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारी के साथ बैठक की। बैठक में कहा गया कि राज्य सरकार द्वारा 7 जुलाई 2021 से दिनांक 6 अगस्त 2021 तक आंशिक संसोधनों के साथ लागू प्रतिबंधों के आलोक में जिले में सभी धार्मिक स्थल आमजनों के लिए बंद रहेंगे। सभी प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेलकूद, शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिक आयोजन एवं समारोह पर प्रतिबंध रहेगा। सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार के सरकारी एवं निजी आयोजन पर प्रतिबंध रहेगा।

इसके साथ ही सभी से अपील किया गया कि बकरीद त्योहार को मनाने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क पहनने आदि से संबंधित कोविड अनुकूल व्यवहार एवं अद्यतन मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) का अनिवार्य रूप से अनुपालन करेंगे। असामाजिक तत्वों पर अंकुश लगाने हेतु अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी तथा विभिन्न स्थानों पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों को विशेष निगरानी रखने का निर्देश दिया गया।

खबरें और भी हैं...