पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मांग:खेतों में जलजमाव से हुई फसल क्षति का आकलन कर किसानों को मिले मुआवजा

मधेपुरा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
समीक्षा बैठक में मौजूद जल संसाधन मंत्री सहित अन्य लोग। - Dainik Bhaskar
समीक्षा बैठक में मौजूद जल संसाधन मंत्री सहित अन्य लोग।
  • समीक्षा बैठक में विधायकों ने रखी मंत्री के समक्ष अपनी-अपनी बात

जिला मुख्यालय के झल्लू बाबू सभागार में मंगलवार को आपदा से प्रभावित परिस्थिति को लेकर समीक्षा बैठक की गई। इस दौरान सबसे पहले डीएम श्याम बिहारी मीणा ने उपस्थित जल संसाधन मंत्री सह जिले के प्रभारी मंत्री संजय झा समेत अन्य सदस्यों को पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से समग्र जानकारी से अवगत कराया। इसके बाद चारों विधायकों ने अपनी-अपनी बात को रखा। इस दौरान विधायक नरेंद्र नारायण यादव, प्रो. चंद्रशेखर, निरंजन कुमार मेहता और चंद्रहास चौपाल ने कहा कि जिले के आलमनगर विधानसभा क्षेत्र में बाढ़ की स्थिति हर साल बनती है। उन लोगों ने भी क्षेत्र का कई बार दौरा किया। इसी क्रम में उन लोगों ने बाढ़ से हुई क्षति और जिला प्रशासन के द्वारा किए गए राहत व बचाव कार्यों को और बेहतर करने के लिए अपनी-अपनी बात रखी। राजद विधायक चंद्रहास चौपाल ने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में तो लोगों को नुकसान पहुंचता ही है। इसके लिए समुचित व्यवस्था हो। साथ ही अन्य इलाकों में भी अतिवृष्टि के कारण खेतों में जल जमाव हो जाता है। इससे किसानों को बड़े पैमाने पर क्षति होती है। इस ओर भी ध्यान देकर ऐसे किसानों को चिह्नित कर फसल क्षति का मुआवजा दिया जाए। साथ ही याश तूफान से पूरे जिले के किसानों को क्षति हुई। लेकिन सिर्फ कुमारखंड प्रखंड में क्षति दिखाई गई है। उन्होंने पूरे जिले में इस क्षतिपूर्ति की मांग की। उन्होंने यह भी कहा कि मेडिकल कॉलेज में सामान्य मरीजों को भी रेफर कर दिया जाता है। इस कारण से गरीबों को दरभंगा या पटना जाना पड़ता है। इसमें काफी खर्च आता है। राजद विधायक प्रो. चंद्रशेखर ने भी कहा कि उन्होंने भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया। वहां जिला प्रशासन को और काम करने की आवश्यकता है। जदयू विधायक नरेंद्र नारायण यादव ने भी बाढ़ और फसल क्षति का मामला उठाया। जबकि जदयू विधायक निरंजन कुमार मेहता ने कटाव के साथ-साथ कृषि विभाग से संबंधित मामलों को उठाया। मौके पर डीएम श्याम बिहारी मीणा, एसपी योगेंद्र कुमार, डीडीसी नितिन कुमार सिंह, डीआरडीए के डायरेक्टर अभिषेक राज, मुख्यालय डीएसपी अमरकांत चौबे समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...