धोखाधड़ी:कुरियर कंपनी के डीसी हेड ने किया 22 लाख रुपए का गबन, छानबीन

मधेपुरा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ई-कॉम एक्सप्रेस का कार्यालय। - Dainik Bhaskar
ई-कॉम एक्सप्रेस का कार्यालय।
  • उदाकिशुनगंज में है ई-कॉम एक्सप्रेस प्राइवेट लिमिटेड का कार्यालय
  • बांका जिला निवासी क्लस्टर हेड ने थाने में दर्ज कराई शिकायत

कोरोना काल में ऑनलाइन मार्केटिंग में काफी बढ़ोतरी हुई है। अब इसी ऑनलाइन मार्केटिंग से जुड़ी एक कुरियर कंपनी में बड़ा गबन का मामला सामने आया है। उदाकिशुनगंज के पटेल चौक धर्मकांटा के समीप स्थित कुरियर कंपनी ई-कॉम एक्सप्रेस प्राइवेट लिमिटेड के कार्यालय कर्मियों द्वारा लगभग 22 लाख रुपए गबन करने का मामला प्रकाश में आया है। मामले को लेकर कंपनी के क्लस्टर हेड ने उदाकिशुनगंज थाने में आवेदन देकर शिकायत दर्ज कराई है। बताया जा रहा है कि उदाकिशुनगंज क्षेत्र में कई माह से ऑर्डर किए गए सामान में हेरफेर करने का मामला सामने आ रहा था। ग्राहक शिकायत किया करते थे लेकिन कोई समाधान नहीं निकल पा रहा था। चर्चा थी कि सामान की हेराफेरी कर कंपनी के कर्मियों ने लगभग 30 से 40 लाख रुपए का गबन किया है। बताया जाता है कि ई-कॉम कंपनी शाखा के संचालक राहुल कुमार यादव के द्वारा प्रायः ग्राहकों के साथ बदसलूकी व मारपीट की जाती थी। जब कोई ग्राहक ऑनलाइन कर सामग्री का आॅर्डर दिया करते थे तो उस सामग्री के बदले दूसरी कोई खराब सामग्री उन्हें दे दी जाती थी। जिस कारण विवाद हुआ करता था। मामले में ई-कॉम एक्सप्रेस प्राइवेट लिमिटेड के बांका जिले के क्लस्टर हेड जुटेश्वर वत्स ने उदाकिशुनगंज थाने में 22 लाख रुपए गबन का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज करने की शिकायत की है।

13 से 30 जुलाई के बीच किया हेरफेर
ई-कॉम एक्सप्रेस प्राइवेट लिमिटेड का कार्यालय उदाकिशुनगंज उनके क्षेत्राधिकार में आता है। उक्त कार्यालय में उदाकिशुनगंज के बसगरहा निवासी राहुल कुमार यादव डीसी हेड के रूप में कार्यरत था। राहुल कुमार यादव ने 13 से लेकर 30 जुलाई के बीच कंपनी का शिपमेंट पार्सल में हेरफेर किया। इस तरह कंपनी का करीब 22 लाख 64 हजार आठ सौ अट्ठाइस रुपए का गबन किया। जिसमें नकद आठ लाख 33 हजार 567 रुपए और शिपमेंट का 14 लाख 35 हजार 321 रुपए का गबन का आरोप लगाया गया है।

जांच के बाद हुआ मामले का खुलासा
मामले को लेकर ई-कॉम एक्सप्रेस कंपनी के स्टेट हेड आशुतोष कुमार और अभिषेक कुमार सिंह ने उदाकिशुनगंज ब्रांच पहुंचकर जांच की तो गबन का खुलासा हुआ। कई घंटों तक की जांच- पड़ताल में पाया गया कि डीसी हेड राहुल कुमार कंपनी से लगातार धोखाधड़ी कर रुपए का गबन कर रहा था। इस संदर्भ में राहुल कुमार यादव ने अपना स्वलिखित बयान भी कपंनी को सुपुर्द कर दिया है। राहुल कुमार यादव ने गबन के मामले को स्वीकार किया है। गबन मामले में अधिकारियों ने बताया कि बिहारीगंज थाना क्षेत्र के कठोतिया निवासी आजाद कुमार यादव कंपनी में विगत एक वर्ष से डिलीवरी ब्वॉय के पद पर कार्यरत था। उसकी मिलीभगत से कुरियर के सामान में सोची समझी साजिश के तहत फेर-बदल कर संस्था को लाखों रुपए की क्षति पहुंचाई गई है।

10 दिन पूर्व हुई थी मारपीट की घटना
कंपनी के कार्यालय को लेकर आए दिन शिकायत लोगों के द्वारा की जाती रही है। बताया गया कि 10 दिन पूर्व 28 जुलाई को मारपीट की घटना भी हुई थी। उस दिन लगभग नौ बजे पुरैनी थाना क्षेत्र निवासी ज्ञानी कुमार को राहुल कुमार यादव, आजाद कुमार, सोनू यादव के द्वारा ई-कॉम कंपनी कार्यालय के कमरे में बांधकर बेरहमी से पीटा भी गया था। जिसका वीडियो भी आवेदन के साथ संलग्न है। मामले में कंपनी के अधिकारियों ने कार्रवाई की मांग की है। थानाध्यक्ष जयप्रकाश चौधरी ने बताया कि आवेदन मिला है। पुलिस के द्वारा छानबीन शुरू कर दी गई है।

खबरें और भी हैं...