पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आक्रोश:बाबा रामदेव के बयान के विरोध में निजी अस्पतालों के चिकित्सक रहे सांकेतिक हड़ताल पर

मधेपुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में चार घंटे तक बंद रही ओपीडी सेवा, परेशानी

योग गुरु बाबा रामदेव द्वारा नई चिकित्सा प्रणाली, टीकाकरण व शहीद चिकित्सकों के खिलाफ दिए गए बयान के विरोध में आईएमए के राष्ट्रीय पदाधिकारी के आह्वान पर शुक्रवार को जिले के निजी अस्पतालों के चिकित्सक सांकेतिक हड़ताल पर रहे। इस दौरान सुबह 8 से दाेपहर 12 बजे तक ओपीडी सेवा बंद रही। लिहाजा मरीजों को चार घंटे तक डॉक्टर का इंतजार करना पड़ा। इस दौरान गंभीर रूप से बीमार रोगियों को देखा गया।

क्लीनिक बंद रहने से सैकड़ों रोगियों को काफी परेशानियों को सामना करना पड़ा। आईएमएम के जिला स्तरीय पदाधिकारी मोबाइल से ही पूरे जिले की स्थिति की जानकारी लेते रहे। जानकारी के अनुसार आईएमएम के राष्ट्रीय पदाधिकारियों के निर्देश पर इस सांकेतिक हड़ताल का आयोजन किया गया था। हड़ताल को लेकर जिला इकाइयों के पदाधिकारी को निर्देश दिया गया था कि बाबा रामदेव द्वारा दिए गए तथ्यहीन व भ्रामक बयान के खिलाफ सांकेतिक हड़ताल का आयोजन करें। इसी आलोक में आईएमए के जिलाध्यक्ष डॉक्टर मिथिलेश कुमार, सचिव डॉक्टर दिलीप कुमार सिंह, उपाध्यक्ष डॉक्टर सचिदानंद यादव समेत अन्य पदाधिकारियों ने सर्वसम्मति से बंद का फैसला लिया।

आए दिन डॉक्टरों पर हो रहे हमले
डॉक्टर मिथिलेश ने बताया कि आए दिन चिकित्सकों पर हमला हो रहे हैं। उनकी सुरक्षा का कोई प्रावधान सरकार नहीं कर रही है। इस हाल में खुले मन से इलाज करना काफी दुष्कर है। डॉक्टर दिलीप ने कहा कि आईएमएम की एकजुटता का ही नतीजा है कि शुक्रवार को चार घंटे तक सभी चिकित्सकों ने अपनी अस्पताल के ओपीडी की सेवा को बंद
रखा। सांकेतिक हड़ताल की सफलता के लिए उन्होंने सभी चिकित्सकों को धन्यवाद ज्ञापित किया। जानकारी के अनुसार आईएमए के निर्देश के आलोक में डॉ. नायडू, डॉ. मिथिलेश कुमार, डॉ. दिलीप कुमार, डॉ. बीएन भारती, डॉ. सचिदानंद यादव व डॉ. सीताराम यादव समेत अन्य चिकित्सकों के क्लीनिक में ओपीडी सेवा बंद रही।

इस दौरान देखा गया कि कई गंभीर रूप से बीमार मरीज डॉक्टरों के आवास तक पहुंच गए। लेकिन चिकित्सकों ने एकजुटता दिखाते हुए दोपहर 12 बजे तक किसी भी मरीज को नहीं देखा। अंत में चार घंटे तक इंतजार के बाद ओपीडी खुला और मरीज का इलाज शुरू हुआ।

खबरें और भी हैं...