पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

विडंबना:ईओ- शहर की सभी सरकारी जमीन नप की डीडीसी- पुराना बस स्टैंड जिला परिषद का

मधेपुरा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुराने बस स्टैंड के बाहर लगे वाहन।
  • पुराने बस स्टैंड से वसूली को लेकर जिला परिषद व नगर परिषद आमने-सामने
  • नए बस स्टैंड से वाहनों के परिचालन को लेकर 15 दिन से चल रही है रस्साकशी
  • दो विभागों के पेच में फंस गए हैं वाहन चालक

नए बस स्टैंड से वाहनों का परिचालन अब तक दुरुस्त भी नहीं हाे पाया कि अब पुराने बस स्टैंड मामले को लेकर जिला परिषद व नगर परिषद आमने-सामने हो गया है। स्थिति यह है कि नगर परिषद जहां इसे अपने क्षेत्राधीन मानकर शहर से निकलने वाली सभी वाहनों को अपने हिस्से का मानकर टैक्स वसूलने लगा है, वहीं जिला परिषद अपने अधीन बस स्टैंड के समीप छोटे वाहनों से टैक्स वसूली पर नाराजगी जताई है। दो सरकारी विभागाें की रस्साकशी से वाहन मालिकों में असमंजस की स्थिति के साथ-साथ परेशानी का सबब बन गया है। यही कारण है कि जहां नगर परिषद अपने दावे के तहत सभी पटना जाने वाली बस को अपने नए बस स्टैंड में शिफ्ट करा दिया है। नगर परिषद का कहना है कि 3.5 करोड़ की लागत से बने अत्याधुनिक बस स्टैंड का मार्च-अप्रैल में ही टेंडर होना था। लॉकडाउन के कारण यह संभव नहीं हो पाया है। टेंडर नहीं होने के बाद अब हमलोगों ने विभाग के निर्देश पर प्रतिदिन के हिसाब से वसूली कर विभाग के खाते में रुपए जमा करना शुरू कर दिया है। इसके तहत कम से कम प्रतिदिन 4697 रुपए विभाग के खाते में जमा हो रहा है। वर्तमान स्थिति यह है कि शहर में लगने वाले सभी वाहनों से टैक्स वसूली नगर परिषद ने शुरू कर दिया है। जिसके तहत पुराने बस स्टैंड में लगने वाले सभी वाहन भी है। दूसरी ओर जिला परिषद इसका विरोध कर रहा है। जिला परिषद का कहना है कि वह बस स्टैंड जिप का है। वहां से ऑटो, सवारी गाड़ी, जीप आदि छोटी गाडियों से टैक्स उन्हें वसूलना है।

पुराने बस स्टैंड के स्वामित्व के लिए जिलाधिकारी को भेजेंगे पत्र
नगर परिषद के ईओ प्रवीण कुमार ने कहा कि नगरपरिषद एक्ट में निर्देशित है कि शहरी क्षेत्र की सभी सरकारी जमीन नगर परिषद के अधीन है। उन्होंने कहा कि चूंकि शहर में एक भी वेंडिंग जोन नहीं है। ऐसे में अगर पुराने बस स्टैंड की खाली जमीन नगर परिषद को मिल जाती है तो शहर के मेन रोड को जाम से मुक्ति मिल जाएगी। वहीं शहर का भी विकास होगा। इसके लिए हमलोग पुराने बस स्टैंड के स्वामित्व के लिए डीएम को पत्र देंगे।

पुराने बस स्टैंड में लगेंगे ऑटो व छोटे वाहन

जिला परिषद का कहना है कि पुराने बस स्टैंड में भले ही बस नहीं लगे, लेकिन ऑटो व छोटे वाहन लगेंगे, क्योंकि हमारी जमीन है। जिला परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी सह उप विकास आयुक्त विनोद कुमार ने कहा कि चूंकि जमीन जिला परिषद की है, तो हम उसका उपयोग राजस्व के लिए करेंगे ही। इसमें किसी को किसी तरह की दिक्कत नहीं होनी चाहीए। इससे बीपी मंडल चौक पर जाम की समस्या से भी मुक्ति मिलेगी। वहीं लोगों को सुविधा बढ़ेगी।

नए बस स्टैंड से गुजरना है सभी वाहनों को
विभाग के निर्देश पर नए बस स्टैंड शुरू किया गया है। शहर से गुजरने वाली सभी वाहनों को उसी स्टैंड से होकर गुजरना है। इसका लाभ यात्रियों को भी मिलेगा।

प्रवीण कुमार, ईओ, नगर परिषद

पुराने बस स्टैंड से होगा ऑटो का होगा परिचालन
नए बस स्टैंड पर सभी तरह के बसों का परिचालन होगा। लेकिन पुराना बस स्टैंड जिला परिषद का है। जिसका उपयोग ऑटो व छोटे वाहनों के परिचालन के रूप में किया जाएगा।
विनोद कुमार, डीडीसी, मधेपुरा

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें