आस्था:मां काली की प्रतिमा का किया विसर्जन

आलमनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नम आंखों से मां काली की लोगों ने भाव पूर्वक विदाई दी। इस दौरान लगभग 10,000 की भीड़ उमड़ पड़ी। आलमनगर ड्योढी में लगभग 200 वर्ष पूर्व से मां काली की स्थापना की जा रही है। इस दौरान भव्य एवं आकर्षक मां काली की मूर्ति बनाई जाती है एवं विधि विधान से पूजा की जाती है। साथ ही 56 भोग मां काली को अर्पित किया जाता है। वहीं दूर-दूर तक मां काली की आस्था के कारण भारी भीड़ उमड़ पड़ती है। शनिवार को मां काली को लोगों ने नम आंखों से विदाई दी। इस दौरान मां काली के जयघोष से पूरा वातावरण गुंजायमान हो रहा था। मंदिर से होते हुए आलमनगर बाजार से गुजरते हुए मां काली की प्रतिमा का पोखर में विसर्जन किया गया।

खबरें और भी हैं...