पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हत्या:बजरंगबली मंदिर के महंत की गोली मार हत्या

नयानगर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बहियार में मिला शव, सुखासनी वार्ड-12 के थेे निवासी, तीन वर्ष पूर्व बहनोई की भी कर दी गई थी हत्या

बुधामा ओपी क्षेत्र के सुखासनी वार्ड संख्या-12 निवासी महंत भोला साह की अपराधियों ने बुधवार की तड़के करीब साढ़े तीन बजे गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक का शव मंदिर से करीब 300 मीटर उत्तर-पश्चिम पीपरा मुसहरी, मधेपुरा-सहरसा बार्डर के समीप करबोला बहियार से बरामद किया गया। बताया जा रहा है कि उनके पुत्र ने रात्रि करीब दो बजे उन्हें मंदिर परिसर के बेड पर देखा था। करीब चार बजे पुजारी टुनटुन चौधरी ने देखा कि महंत भोला साह बेड पर नहीं है। डायबिटीज होने के कारण वे चलने-फिरने में असमर्थ थे। इस कारण से शक होने पर पुजारी ने महंत के परिजनों को सूचना दी। इसके बाद ग्रामीण व अन्य के सहयोग से उनकी खोजबीन की गई, तो शव करबोला बहियार से मिला। इसके बाद काशनगर ओपी प्रभारी व बुधामा कैंप प्रभारी अमरेंद्र कुमार सिन्हा ने निरीक्षण कर घटनास्थल को उदाकिशुनगंज थाना अंतर्गत बताया। इसके बाद इंस्पेक्टर जेपी चौधरी ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भिजवाया। बताया गया कि एक गोली उनके मुंह के अंदर मारी गई, जो कान के निचले हिस्से से होकर आर-पार हो गई। वहीं दूसरी व तीसरी गोली पंजरे के अलग-अलग हिस्से में मारी गई, जो फंसी रह गई। पोस्टमार्टम के बाद शव का दाह संस्कार किया गया। परिजनों ने बताया कि दो-तीन वर्ष पूर्व मृतक के बहनोई विश्वेश्वर साह की भी हत्या कर काशनगर ओपी क्षेत्र के बहियार में बोरे से बांधकर फेंक दिया गया था। फिलहाल घटना के कारणों का पता नहीं चल पाया है। उदाकिशुनगंज एसडीपीओ सतीश कुमार ने भी पहुंचकर मामले की छानबीन की।

हत्या के आरोप में हुई थी सजा
ग्रामीणों ने बताया कि वर्ष 2016 से महंत भोला साह सुखासनी में नवनिर्मित बजरंगबली मंदिर की देखरेख करते थे। हालांकि पुलिस रिकाॅर्ड के अनुसार पूर्व में गांव के ही महेंद्र पासवान हत्याकांड में नामजद आरोपी होने के कारण उन्हें निचली अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। इसके बाद उन्हें हाईकोर्ट से रिहा कर दिया गया था। छानबीन के क्रम में मंदिर परिसर व आसपास से पुलिस ने कफ सीरप, गांजा, स्मैक व महुआ शराब की पाॅलीथिन भी मिली।

छानबीन की जा रही है
घटना के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच-पड़ताल की जा रही है। संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी भी की जाएगी। हत्यारों को जल्द गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
सतीश कुमार, एसडीपीओ

खबरें और भी हैं...