पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दुस्साहस:बाइक छोड़ने के एवज में 5000 घूस नहीं देने पर हाथापाई

मधेपुरा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गम्हरिया थाने में पदस्थापित जमादार डीएन यादव का वीडियो हुआ वायरल

पांच हजार रुपए रुपए घूस नहीं देने पर गम्हरिया थाने के एक जमादार से पीड़ित बाइक चालक व उसके साथ आए लोगों से हाथापाई की। इससे भी जी नहीं भरा, तो जमादार ने दो लोगों को दो घंटे के लिए थाने के एक कमरे में बैठाए रखा। बाद में थानाध्यक्ष की पहल पर मामले को शांत कराया गया। घटना दो सितंबर की है। घूस मांगने और हाथापाई से संबंधित वीडियो भी वायरल कर दिया गया है। सहरसा जिले के मोकमा निवासी पीड़ित पप्पू कुमार ने बताया कि 16 जून को गम्हरिया थाना क्षेत्र में फुलकाहा सायफन नहर पर रात को अपराधियों ने उसकी बाइक लूट ली थी। पुलिस ने एक माह बाद उक्त बाइक को बरामद कर लिया। इसके बाद जब वह बाइक लेने गया तो केस के आईओ देव नारायण यादव ने उससे कहा कि कोर्ट से रिलीज ऑर्डर लाना होगा। पप्पू ने बताया कि दो सितंबर को कोर्ट से रिलीज ऑर्डर लेकर जब वह थाने आए तो पता चला कि जमादार देवनारायण यादव थाने से बाहर अपने निजी आवास पर मिलेगे। वे लोग जब वहां गए तो उससे 5000 रुपए की मांग की गई। लोगों ने जब कहा कि गरीब आदमी हैं, तो वे कहने लगे कि दूसरे जगह जाता है? हम ही केस डायरी लिखेंगे। यहां से लेकर ऊपर तक खर्चा देना होगा, वह क्या हम अपने पॉकेट से देंगे। इस दौरान आक्रोश में दोनों ओर से बहसबाजी भी हो गई। इसके बाद उनमें से दो लोगों को थाना लाकर एक कमरा में बंद कर दिया गया। उन लोगों ने अपने मोबाइल में पूरा वीडियो भी बना लिया था, जिसे थाने पर डिलीट कर दिया गया। दूसरे मोबाइल में कुछ वीडियो बचा रह गया। दूसरी ओर, आरोपी जमादार डीएन यादव का कहना है कि उन्होंने घूस नहीं मांगा। लड़कों ने घर पर बहसबाजी की थी, जिसके बाद उन्हें थाना में बैठाया गया। बाद में थानाध्यक्ष ने उन लोगों को छोड़ दिया।

विवादों से पुराना नाता है जमादार का
जमादार डीएन यादव लगातार विवादों में रहते हैं। जुलाई महीने में मारपीट समेत अन्य मामलों के पांच आरोपियों को अपने आवास पर बुलाकर जमानत दे रहे थे। इसी क्रम में एसपी के आदेश से थानाध्यक्ष ने आकर पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में भी उनकी किरकिरी हुई थी। उनके खिलाफ वरीय अधिकारी को भी रिपोर्ट किए जाने की बात कही गई थी।

खबरें और भी हैं...