आंदोलन:किसानों के अस्तित्व की लड़ाई दिल्ली तक लड़ी जाएगी

मधेपुराएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मंगलवार को सत्याग्रह पर बैठे राजद के सदर विधायक व अन्य। - Dainik Bhaskar
मंगलवार को सत्याग्रह पर बैठे राजद के सदर विधायक व अन्य।
  • कोसी नवनिर्माण मंच का सत्याग्रह दूसरे दिन भी रहा जारी, बोले सदर विधायक...

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी स्तर से मक्का की खरीद को लेकर कोसी नवनिर्माण मंच का दूसरे चरण में सत्याग्रह मंगलवार को भी जारी रहा। इस दौरान  किसान संगठन की मागों का समर्थन करने राजद के सदर विधायक प्रो. चंद्रशेखर भी आए। मौके पर सत्याग्रहियों की मांग का समर्थन करते हुए प्रो. चंद्रशेखर ने कहा कि केंद्र सरकार फसल का दोगुना मूल्य दिलाने का दावा करती है।     लेकिन दोगुना कौन पूछे, लागत का आधा भी नहीं मिल पा रहा है। किसानों के पास जमा मक्का सड़ रहा है, कोई खरीदने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को शासन में आए 6 वर्ष से अधिक हो गए और राज्य सरकार के विकास के दावे के 15 वर्ष हो गए। किसानों के साथ वादा निभाने के लिए यह समय कम नहीं होता है। उन्होंने सत्याग्रह का पुरजोर समर्थन करते हुए कहा कि यह किसानों के अस्तित्व की लड़ाई है। इसके लिए हमलोग साथ हैं और यह दिल्ली तक लड़ी जाएगी। सत्याग्रह का नेतृत्व कर रहे कोसी नवनिर्माण मंच के अध्यक्ष संदीप यादव ने कहा कि मक्का किसानों की लड़ाई निर्णायक दौर में प्रवेश कर रही है। सभी किसानों को एकजुट होकर अपना हक लेना है। सत्याग्रह में राजद के प्रदेश महासचिव विजेंद्र प्रसाद यादव,  देवकिशोर यादव, त्रिलोक दास, कोसी नवनिर्माण मंच के उपाध्यक्ष अनिल दास, मुरलीगंज के प्रखंड प्रमुख मनोज कुमार साह, भास्कर कुमार, रघुवंश मणि, गणेश मानव, जयकृष्ण मंडल, देवानंद यादव, नंद पासवान, डीके यादव, रौशन कुमार, अनिल, तनवीर आलम, मंटू कुमार,  रमण सिंह, रणवीर कुमार, रौशन रवि व भगवान चंद्र सहित अन्य भी उपस्थित थे। दूसरी अोर, मंच के संस्थापक महेंद्र यादव ने बताया कि सरकार पर चौतरफा दबाव बनाने के लिए सत्याग्रहियों ने मंगलवार को सभी दलों के प्रदेश अध्यक्षों को पत्र लिखकर अपने-अपने दल की ओर से इस मामले को उठाने का आग्रह किया। इसी क्रम में जदयू के प्रदेश अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल, लोजपा के अध्यक्ष, चिराग पासवान, राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा, हम सेक्युलर के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, वीआईपी के अध्यक्ष मुकेश सहनी, जनाधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव, सीपीआई के राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह, माकपा के प्रदेश सचिव का अवधेश नारायण व माले के राज्य सचिव कुणाल को पत्र लिखकर अपनी-अपनी पार्टी के स्तर से मक्का के सरकारी खरीद को ले सरकार पर दबाव बनाने का आग्रह किया।

खबरें और भी हैं...