पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंचायत चुनाव:बैलेट पेपर व ईवीएम में इस बार नहीं होगा नोटा का विकल्प

मधेपुरा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वोट नहीं देने वालों को पीठासीन पदाधिकारी के पास दर्ज करानी होगी शिकायत

पंचायत चुनाव के दूसरे चरण में सदर प्रखंड के 17 पंचायतों में 29 सितंबर को मतदान होना है। संवीक्षा 16 सितंबर को होगी जबकि मतदान 29 को होगा। संबंधित पदाधिकारी तथा कर्मी संवीक्षा की तैयारी में जुट गए हैं। समय-समय पर राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा आवश्यक निर्देश भी दिया जा रहा है। जिसके आलोक में जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीएम श्याम बिहारी मीणा के निर्देश पर प्रशासनिक पदाधिकारी कार्य कर रहे हैं। जानकारी के अनुसार पंचायत चुनाव में जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य, मुखिया तथा वार्ड सदस्य का चुनाव ईवीएम से होना है। सरपंच एवं पंच का चुनाव बैलेट पेपर से कराया जाएगा।

नोटा का डायरेक्ट प्रयोग नहीं कर सकेंगे

इस बार बैलेट पेपर एवं ईवीएम में नोटा यानी नान ऑफ दी एबइ यानी उपरोक्त में से कोई नहीं का ऑप्शन नहीं दिखेगा। लिहाजा मतदाता नोटा का डायरेक्ट प्रयोग नहीं कर सकेंगे। जानकारों का कहना है कि अगर कोई मतदाता वोट देने के लिए बूथ पर जाएंगे तो नोटा का ऑप्शन नहीं मिलेगा और किसी एक पद के प्रत्याशी को वोट देने के बाद किसी भी या अन्य पद पर मतदान नहीं करना चाहेंगे तो उन्हें पीठासीन पदाधिकारी के पास शिकायत रजिस्‍टर्ड कराना है। पीठासीन पदाधिकारी के अनुमति के बाद वे वोट नहीं दे सकेंगे। जिला निर्वाचन शाखा से प्राप्त जानकारी के अनुसार पंचायत आम निर्वाचन में नोटा का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। पिछले चुनाव में भी नोटा का प्रयोग नहीं हुआ था। चुनाव के संदर्भ में राज्य निर्वाचन आयोग से प्राप्त निर्देश के आलोक में कार्य किया जा रहा है।

बूथों का भौतिक सत्यापन कर एआरओ दें रिपोर्ट

कुमारखंड | निर्वाची पदाधिकारी (पंचायत) सह बीडीओ पंकज कुमार ने सभी एआरओ को पत्र जारी किया है। उन्होंने कहा है कि सीओ सह एआरअो शशि कुमार प्रखंड के टेंगराहा सिकियाहा, विशनपुर सुंदर और विशनपुर बाजार पंचायत के मतदान केंद्र का भौतिक रूप से सत्यापन करेंगे। वहीं सीडीपीओ सह एआरओ अहमद रजा खां पुरैनी, परमानंदपुर, लक्ष्मीपुर भगवती और मंगरवाड़ा पंचायत के मतदान केंद्र का सत्यापन करेंगे। जबकि बीईओ सह एआरअो कुमार गुणानंद सिंह, कुमारखंड, सिहपुर गढ़िया और रामनगर महेश पंचायत के मतदान केंद्रों का सत्यापन करेंगे। बीएओ सह एआरओ शंभू शरण सिंह इसराईन बेला, इसराईन कला, बैशाढ़ और इसराईन खुर्द पंचायत के बूथ का सत्यापन करेंगे। वहीं बीसीओ सह एआरओ जिवेंद्र कुमार, रानीपट्टी सुखासन, विशनपुर कोड़लाही, लक्ष्मीपुर चंडीस्थान और रहटा पंचायत के मतदान केंद्र का भौतिक सत्यापन करेंगे। बीडब्ल्यूओ ललन कुमार प्रखंड के रौता, टेंगराहा परिहारी और बेलारी पंचायत के बूथ का भौतिक सत्यापन करेंगे। निर्वाची पदाधिकारी सह बीडीओ ने आदेश पत्र के माध्यम से निर्देश दिया है कि पंचायत आम निर्वाचन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। शुरुआत में पंचायत सचिव और अधोहस्ताक्षरी द्वारा बूथ का भौतिक सत्यापन किया गया था।

हर बूथ पर दो मतदान पेटी उपलब्ध रहेगी
पंचायत चुनाव के मतदान में इस बार दो प्रकार से वोटिंग कराई जाएगी। इसके लिए ईवीएम और बैलेट पेपर का इस्तेमाल किया जाएगा। जानकारों की माने तो मुखिया, पंसस, वार्ड सदस्य व जिला पार्षद के लिए अलग-अलग ईवीएम का प्रयोग किया जाएगा और सरपंच एवं पंच पद के लिए बैलेट पेपर का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके लिए ईवीएम मशीन का चार बैलेट यूनिट और कंट्रोल यूनिट का इस्तेमाल किया जाएगा जबकि हर बूथ पर दो मतदान पेटी उपलब्ध रहेगी। आयोग द्वारा जिला निर्वाचन पदाधिकारी एवं प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी को कोरोना नियमों का अनुपालन कराने की सख्त हिदायत दी गई है। आयोग द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक नामांकन के साथ-साथ चुनाव प्रचार के दौरान भी प्रत्याशी के साथ अधिकतम पांच लोग ही रह सकते हैं। इससे अधिक लोग साथ रहने पर उनके विरुद्ध कार्रवाई किए जाने का प्रावधान किया गया है। चुनाव आयोग ने कहा है कि पांच से अधिक लोग रहने पर इसे आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा। मगर यहां इसका कोई पालन नहीं हो रहा है।

खबरें और भी हैं...